पूर्व मंत्री के आरोप- कर्ज लेकर घी पीना शिवराज सरकार की नियति, इवेंट और विज्ञापन पर खर्च किए 62 अरब रुपए

Bhopal Former Minister’s Allegations : चार दिन चला मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र गुरुवार को समाप्त हो गया। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान विपक्ष द्वारा उठाए गए लगभग सभी सवाल अनुत्तरित रहे। सदन की कार्यवाही समाप्त होने के बाद कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने राज्य सरपर पर 62 अरब रुपए इवेंट और विज्ञापन में खर्च करने के आरोप लगाए।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के आरोप 

विधानसभा परिसर में मीडिया ब्रीफिंग के दौरान जीतू पटवारी ने कहा कि कर्ज लेकर घी पीना शिवराज सरकार की नियति बन गया है। पटवारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिवराज सरकार ने 12 अरब रुपए विज्ञापन में खर्च कर दिए। उन्होंने कहा कि मैने विधानसभा अध्यक्ष से इसका सबूत सदन की पटल पर रखने की अनुमति मांगी लेकिन अनुमति नहीं दी गई।

जीतू पटवारी ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने इवेंट में पच्चास अरब रुपए फूंक दिए। पटवारी के मुताबिक इनमें 10 अरब रुपए जनसंपर्क विभाग के थे बाकी 40 अरब रुपए अन्य विभागों से लिए गए। उन्होंने कहा कि, ‘इवेंट के नाम पर जो रोज भीड़ जुटाई जाती है। बड़े-बड़े मंच सजते हैं। कॉर्डलेस माइक जिससे शिवराज लोगों को सस्पेंड करते हैं। उसपे अरबों रुपए खर्च किए गए हैं। शिवराज के कार्यक्रमों में जो भीड़ होती है वो पैसे से लाई गई सरकारी भीड़ होती है। 50 अरब रुपया… प्रदेशवासियों ये छोटी मोटी राशि नहीं है।’

जीतू पटवारी का दावा

पटवारी ने दावा किया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 250 करोड़ रुपए विदेश यात्राओं पर खर्च किया है। इसके अलावा इन्वेस्टर्स मीट के लिए विदेश यात्राओं पर 100 करोड़ रुपए खर्च किया। साथ ही अमेरिका में सीएम शिवराज के रोड शो जैसे इवेंट पर 28 करोड़ रुपए खर्च किए गए। उन्होंने इसे मध्य की भावी पीढ़ी पर आघात करार देते हुए कहा कि कांग्रेस मीडिया के माध्यम से प्रदेश की जनता के बीच इसका सबूत रखेगी।

पटवारी ने आगे कहा कि, ‘हमारे प्रदेश का सालाना बजट ही 1 लाख 90 हजार करोड़ रुपए है, जबकि सरकार पर कर्ज चार लाख करोड़ रुपए का है। पच्चास हजार करोड़ तो ब्याज देने में खर्च हो जाता है। इसके बावजूद सरकार उधार के पैसे से अय्याशी कर रही है।’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई कितना भी आर्थिक रूप से संपन्न आदमी हो अगर उसके घर में एक कप चाय बनती है तो कितने की बनती है? हम 20 रुपए की चाय पी सकते हैं, 30 की पी सकते हैं, कोई विदेशी मसाला ले आए तो सौ रुपए प्रति कप चाय होगी। लेकिन सरकार ने भाजपा कार्यालय में चार सौ रुपए प्रति कप चाय में खर्च की।

जीतू पटवारी का सदन में आरोप

इसके पहले जीतू पटवारी ने सदन में आरोप लगाया कि बीजेपी कार्यालय में चाय नाश्ते के लिए 9 करोड़ रुपए शासकीय फंड से दिए गए। पटवारी के मुताबिक ये सरकार के रिकॉर्ड में है। हालांकि, सदन में पूछे जाने पर सीएम चौहान ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। जीतू पटवारी ने कहा कि देश में सबसे अकर्मण्य कोई मुख्यमंत्री है तो वो मध्य प्रदेश का है।

जीतू पटवारी इस मुद्दे पर भी आक्रामक दिखे की कल 12 घंटे से ज्यादा देर तक चली अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान मीडिया के कैमरों की अनुमति नहीं थी। लेकिन आज जब सीएम शिवराज ने अविश्वास प्रताव पर वक्तव्य दिया तो स्पेशल कैमरे लगाए गए थे, मीडिया के कैमरों को भी अनुमति दी गई थी।