Sudan Civil War: सूडान में फंसा बैरागढ़ का युवक, परिवारजनों ने लगाई पीएम मोदी से गुहार

Sudan Civil War : सूडान में सेना और पैरामिलिट्री रेपिड सपोर्ट फोर्स के बीच जमकर लड़ाई चल रही है, जिसके चलते लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़ाई के 5वें दिन यानि बुधवार को देश में डब्ल्यूएचओ ने 270 मौतों की बात कही जबकि 2600 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं और भारत लगातार सूडान की गतिविधियों पर नजर बनाएं हुए है। साथ ही, विदेश मंत्रालय द्वारा अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई और सऊदी अरब से बातचीत कर रहा है ताकि संघर्ष को शांत करने और सुरक्षा तंत्र को स्थायी करने के लिए आवश्यक सहायता दी जा सके।

युद्ध में फंसा बैरागढ़ का युवक

इसी कड़ी में बैरागढ़ के संतनगर निवासी नरेंद्र केवलानी का बेटा जयंत केवलानी व्यापार के काम से दुबई गया था, जहां से फिर वो कुछ दिन के लिए सूडान गया था और 20 अप्रैल को उसकी भारत के लिए वापसी थी लेकिन वापसी के दो दिन पहले ही सूड़ान में गृह युद्ध के हालात बनने से वह फंस गया है। जिसके कारण उसके परिजन काफी ज्यादा परेशान हैं।

पीएम मोदी से गुहार

बेटे ने अपने परिजनों को वहां से फोन पर बताया कि, यहां पर गोलीबारी हो रही है। मैं जहां रूका हूं, वहां सूडान सेना का मुख्यालय है। आसपास कारतूस आकर गिर रहे हैं। मैं भारत कैसे आऊंगा अभी समझ नहीं आ रहा है। बता दें कि जयंत सूडान की राजधानी खार्तूम में सेना मुख्यालय के पास ही फ्लैट में फंसा है। वहीं, परिजनों ने बेटे को सूडान से वापस लाने में मदद के लिए प्रधानमंत्री मोदी से गुहार लगाई है।

बहन का मार्मिक ट्वीट

पिता नरेन्द्र लालवानी ने बताया कि, जहां जयंत है वहां उसके साथ दो तीन युवक हैं लेकिन खाने की सामग्री उनके पास नहीं बची है। यदि जल्द कुछ हल नहीं निकला तो हालात बिगड़ जाएंगे। वहीं, जयंत की बहन वंशिका केवलानी ने ट्विटर हैंडल के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, विदेश मंत्री एस जयशंकर, प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद शंकर लालवानी से मदद की गुहार लगाई है। वंशिका ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ, दिग्विजय सिंह को अपनी आपबीती बताई है।

भोपाल से रवि कुमार की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News