‘जहां टीआई की सीधी लाइन होती है वहां हाथ नहीं डालते’, भोपाल पुलिस का वसूली वीडियो वायरल

bhopal-police-new-face

भोपाल। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह थानों में बैठाकर फरियादी को चाय पिलाने की सलाह पिछले दिनों एमपी पुलिस को दे गए थे। नवागत सीएम कमल नाथ भ्रष्टाचार मुक्त और पीपुल्स फ्रेंडली पुलिस चाहते हैं। वहीं बंदी को लेकर यह पुलिसकर्मी अवैध कारोबारियों को बड़ावा दे रहे हैं। इससे आने वाली रकम के हिस्से के लिए आपस में भिड़ रहे हैं। ताजा मामला राजधानी के शाहजहांनाबाद थाने में सामने आया है। जहां थाना प्रभारी और एक एसआई का गुट अवैध वसूली को लेकर आमने सामने है। एक दूसरे की कथित वीडियो और ऑडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर खाकी पर दाग लगा रहे हैं। 

जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया पर एक आडियो और दो वीडियो वायरल हुए हैं। जिसमें वसूली को लेकर एक एसआई अवैध गैस की रिफलिंग करने वाले दुकानदार से पूछताछ कर रहा है। दुकानदार बताता सुनाई दे रहा है कि थाने में उमेश भदौरिया नाम का आरक्षक है। जो हर माह की बीस तारीख को दो हजार रूपए लेने आता है। कभी कभार वह खुद थाने पहुंचकर रकम देकर आता है। बातचीत के बीच एसआई कहता सुनाई आता है कि हम इंतजार कर रहे थे कि तुम खुद हमसे मिलो, इस जंगल में नया शेर आ गया है। तब दुकानदार कहता है कि वह सीधा टीआई और उमेश भदौरिया से संपर्क रखता है। पूर्व टीआई उदय सिंह अलावा से वह थाने में लेन-देन के संबंध में सीधा मिल चुका है। उनके आने की उसे जानकारी नहीं थी। तब एसआई रागवेंद्र सिंह सिकरवार कहता है कि उसे थाने में आए करीब चार महीने हो चुके हैं। तू ने हमसे कभी मिलने की कोशिश क्यो नहीं की, सुना है तू तीन मशीने चलाता है रिफलिंग की। दुकानदार कहता है कि एरिया में तीन दुकाने हैं, सिर्फ मेरी नहीं, तीनों अपनी-अपनी बंदी हर महीने पहुंचा देते हैं। इसके बाद में दुकानदार बताता है नूरमहल मस्जिद के सामने मेन रोड पर दो दुकाने हैं सोहेल और रईस की। वह भी अवैध रिफलिंग करते हैं। तब वीडियो बना रहा एक पुलिसकर्मी उक्त दुकानदारों के नंबर मांगाता है।

– आडियो में नए टीआई का जिक्र

कथित आडियो के अनुसार उमेश भदौरिया रागवेंद्र सिकरवार के साथ गए पुलिसकर्मी को कॉल करता है। उससे गैस की दुकानों पर जाने की वजह पूछते हुए फटकारता है। साथ ही कहता सुनाई दे रहा है कि पता नहीं है जहां थाना प्रभारी की सीधी लाइन होती है वहां हाथ नहीं डालते, अभी प्रभारी मुकाती साहब हैं। यह उनकी लाइन है, मैं उन्हें सारी बात बता चुका हूं, तू नप जाएगा समझ ले, तब काल पर बात कर रहा आरक्षक कहता है कि आप रागवेंद्र साहब से बात करो मुझे मत चिल्लाओ वह लेकर गए थे मुझे साथ। गौरतलब है कि उमेश भदौरिया पिछले करीब 14 सालों से एक ही थाने में जमा है। 

 इनका कहना है

मुझे अवैध गैस रिफलिंग की सूचना मिली थी। जिसके बाद दुकानदार को उठाया गया था। हालांकि उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। उसे समझाइश देकर छोड़ दिया गया था। उमेश भदौरिया पिछले 14 साल से थाना शाहजहांनाबाद में पदस्थ है।