Bhopal : नाइजीरियन ठग गिरोह का सरगना गिरफ्तार, सोशल मीडिया के जरिए ठगे थे लाखों रूपए

इस मामले में पुलिस ने गिरोह के सरगना को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि गिरोह के तीन आरोपी पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर चुके हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सोशल मीडिया (social media) के जरिए अपने हुस्न के जाल में फसाकर ठगी (cheating) करने वाले गिरोह का भोपाल पुलिस (Bhopal Police) ने पर्दाफाश किया है। जानकारी के अनुसार राजधानी के एक युवक से फेसबुक (Facebook) पर विदेशी महिला द्वारा 11 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया था। इस मामले में पुलिस ने गिरोह के सरगना को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि गिरोह के तीन आरोपी पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर चुके हैं।

Read also…Singrauli:चौकी में ट्रैक्टर के इंजन में हुई अदला-बदली, पुलिस की कार्यप्रणाली पर लगातार उठ रहे सवाल !

क्रिसमस गिफ्ट के नाम पर ठगी
जानकारी के अनुसार भोपाल की युवक पवन अग्रवाल ने एक शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें युवक ने बताया था की सोशल साइट द्वारा विदेशी महिला द्वारा उसके साथ ठगी की गई है। फेसबुक पर पवन की महिला से दोस्ती हुई थी। जिसके बाद महिला द्वारा उसे क्रिसमस पर गिफ्ट भेजने की बात कही गई। बाद में महिला का पवन के पास फोन आया और उसने कहा कि उस गिफ्ट को एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने पकड़ लिया है। जिसके एवज में वह रुपए एयरपोर्ट पर जमा करा दें उसके बाद उसे उसका गिफ्ट मिल जाएगा। जिसके बाद पवन ने किस्तों में 11 लाख 22 हजार 844 रुपए महिला के अकाउंट में ऑनलाइन डाले। बाद में जब युवक को कुछ समझ आता तब तक देर हो चुकी थी और पवन समझ चुका था कि उसके साथ ठगी हुई है। जिसके बाद पवन ने साइबर पुलिस को शिकायत की। पुलिस ने बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर के आधार पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था।

नोएडा से जुड़े थे तार
इस मामले में जो पुलिस ने छानबीन की और कॉल ट्रेस किया तो यह मामला नोएडा जा पहुंचा। जहां से गिरोह के सरगना मुईट उर्फ अजीज को ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार किया है। बता दें कि पुलिस ने सोलोमन वजीर सहित तीन लोगों को पहले ही पकड़ लिया था ।कोलेकिन का सरगना मौका देकर फरार हो गया था ।जिसे नोएडा से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से बैंक पासबुक, लैपटॉप, एटीएम, मोबाइल और सिम कार्ड बरामद की है।

फेक आईडी से बिछाते थे जाल
बतादें कि सोलोमन वजीर आरोपी फेसबुक पर फेक आईडी बनाकर लोगों को अपने जाल में फंसते थे। और लोगों से रोमांटिक बातें कर कर उन्हें गिफ्ट भेजा करते थे और बाद में गिफ्ट कस्टम अधिकारी से छुड़वाने के एवज में पैसे लिया करते थे।

Read also… युवक को पाकिस्तान बॉर्डर से लाने के लिए परिजनों ने प्रशासन से लगाई गुहार, यह है मामला