मप्र में अब तक शुरू नहीं हो पाई बस सेवाएं, कमलनाथ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

भोपाल| प्रदेश भर लॉकडाउन (Lockdown) के साथ ही बस सेवा को बंद किया था| जो कि तीन माह बाद भी चालू नहीं हो पाई है| बस ऑपरेटर और सरकार के बीच चल रही खींचतान के चलते भोपाल समेत प्रदेशभर में यात्री बस सेवा चालू नहीं हो सकी। बस ऑपरेटरों का कहना है कि मांग पूरी हाेने पर ही वे बसों का संचालन करेंगे। इधर, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को पत्र लिखकर परिवहन विभाग एवं परिवहन व्यवसायियों के मध्य चल रहे गतिरोध को समाप्त कर शीघ्र ही बस सेवा शुरू कराने की मांग की है|

सीएम शिवराज को पूर्व सीएम ने पत्र में लिखा कि कोरोना महामारी के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था एवं इस अवधि में प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था पूर्णता प्रतिबंधित की गई थी| अब देश में अनलॉक व्यवस्था प्रारंभ होने पर प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को क्रमबद्ध तरीके से प्रारंभ करने के निर्देश दिए हुए है और बसों का संचालन 50% सवारी के साथ प्रारंभ करने की अनुमति दी गई| लेकिन सार्वजनिक परिवहन व्यवसायियों एवं परिवहन विभाग के बीच टैक्स छूट एवं अन्य मांगों को लेकर गतिरोध होने के कारण सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था प्रारंभ ही नहीं हो पाई| जिसके चलते मध्यप्रदेश के आमजन को आज भी परिवहन व्यवस्था की अनुपलब्धता के कारण असुविधा हो रही है|

कमलनाथ ने लिखा लॉक डाउन के कारण बस संचालकों को अत्याधिक आर्थिक नुकसान हुआ है एवं 50% क्षमता में बसों का संचालन करने से भी उन्हें अत्याधिक आर्थिक नुकसान होगा | वहीं विगत 20 दिवस में डीजल के भाव में हुई निरंतर भारी बढ़ोतरी के कारण बसों के संचालन का व्यय और बढ़ गया है इस स्थिति में परिवहन व्यवसायियों द्वारा की जा रही राहत प्रदान करने की मांग भी उचित प्रतीत होती है|

उन्होंने कहा प्रदेश के 22000 से अधिक बस संचालकों द्वारा प्रदेश में लगभग 35000 बसों का संचालन किया जाता है इस सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था के माध्यम से प्रदेश के लगभग 50 लाख नागरिक प्रतिदिन आवागमन करते हैं और इस व्यवस्था के प्रारंभ नहीं होने से के कारण लाखों प्रदेशवासियों को निरंतर कठिनाई हो रही है| कमलनाथ ने मांग की है कि प्रदेश के लाखों नागरिकों को आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए परिवार विभाग एवं परिवहन व्यवसायियों के मध्य चल रहे गतिरोध को अविलंब समाप्त कराएं ताकि प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था सुचारू रूप से प्रारंभ हो सके और प्रदेश के नागरिकों को रात मिले|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here