इंस्टाग्राम पर कम कीमत में आई-फोन बेचने के नाम पर ठगी, भोपाल क्राइम ब्रांच ने दिल्ली से पकड़े आरोपी

सायबर काईम संबंधित घटना घटित होने की सूचना भोपाल सायबर क्राइम के हेल्पलाइन नम्बर 9479990636 अथवा राष्ट्रीय हेल्पलाईन नंबर 1930 पर दे।

Avatar
Published on -

BHOPAL NEWS : इंस्टाग्राम पर विज्ञापन के माध्यम से आई-फोन कम कीमत पर बेचने के नाम पर संगठित गिरोह के सरगना सहित पांच आरोपियों को सायबर क्राईम ब्रांच भोपाल ने दिल्ली एवं निवाड़ी से गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने इंस्टाग्राम पर कम कीमत पर आई-फोन बेचने का विज्ञापन देने के लिये इंस्टाग्राम पर पेज बनाया गया है।इस पेज पर आरोपी संपर्क के लिये वाट्सअप नंबर देते थे। यह कम कीमत पर मंहगे मोबाइल देने का झांसा देते है। आरोपी किराए के मकान मे रहकर लोगो से ठगी करते थे। आरोपी ठगी के लिये फर्जी बैंक खाते एवं मोबाइल नंबर का उपयोग करते थे। पुलिस को आरोपियों से पूछताछ में लगभग 100 लोगो से धोखाधडी करने के साक्ष्य मिले है।

यह था घटनाक्रम 

13 मई  को फरियादिया हिना खान  निवासी भोपाल के द्वारा सायबर क्राइम भोपाल में लिखित शिकायत आवेदन दिया गया कि फरियादिया के द्वारा INSTAGRAM ID-Integrity_mobile पर मोबाईल बेचने का विज्ञापन देखा जिसे बुक करने के बाद आवेदिका को WHATSAPP मो.न.+91626258392 के उपयोगकर्ता व्दारा मोबाईल बुकिंग के पैसे ट्रांसफर करवा ने लिये बोला गया बाद आवेदिका के साथ WHATSAPP कॉल कर कस्टम-पे, रिफण्ड के नाम पर अलग-अलग माध्यम से कुल 188999/-रूपये की धोखाधडी की गई। मामलें की शिकायत मिलते ही पुलिस ने जांच शुरू की।

ऐसे देते थे आरोपी ठगी की घटनाओं को अंजाम 

आरोपियो के द्वारा इंस्टाग्राम पर कम कीमत पर मंहगे मोबाइल बेचने का विज्ञापन देने के लिये इंस्टाग्राम पर Integrity_mobile नाम का पेज बनाया गया है एवं संपर्क के लिये वाट्सअप मोबाइल नंबर दिया जाता है। जो ग्राहक वाट्सअप पर संपर्क करता है। आरोपी आशीष यादव उनसे बात कर कम कीमत पर मंहगे मोबाइल देने की डील फायनल करता है और उन्हे 5999/-रूपये रजिस्ट्रेशन फीस के जमा करने को बोलता है। रजिस्टेशन फीस जमा करने के बाद आरोपी आशीष यादव उन्हे स्वयं के द्वारा तैयार किया गया फर्जी बिल वाट्सअप के माध्यम से भेज देता है। उसके बाद कस्टम ड्यटी, जीएसटी एवं विभिन्न प्रकार के चार्ज के नाम पर लोगो से धोखाधडी की जाती है। खाते में पैसा आने के बाद अभिषेक यादव एवं अंकित कुमार के द्वारा एटीएम से पैसा नगद निकाल कर अन्य खातो में जमा कर दिया जाता है। ताकि पैसे की आनलाइन ट्रेल को तोडा जा सके।

पुलिस ने की कार्रवाई 

सायबर क्राईम जिला भोपाल की टीम ने साक्ष्यो एंव तकनीकी एनालिसिस के आधार पर प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर अपराध में उपयोग किये गये वाट्सएप नंबर एवं इंस्टाग्राम आईडी के वास्तविक उपयोगकर्ता की तकनीकि जानकारी प्राप्त की गई एवं प्राप्त जानकारी का मैदानी स्तर पर टीम के सदस्यों द्वारा प्रयास कर वास्तविक आरोपी की पहचान की एवं फरियादिया के साथ धोखाधडी में उपयोग किये गये बैंक खाते एवं सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरोह के अन्य आरोपीगणों की पहचान की गई। तकनीकि एवं मैदानी स्तर पर प्राप्त जानकारी के आधार पर गिरोह के मुख्य आरोपी आषीष यादव को दिल्ली एवं अन्य आरोपीगण को निवाडी से गिरफ्तार किया गया एवं अपराध में प्रयुक्त 07 मोबाइल फोन, 11 सिम कार्ड, 02 बैंक पासबुक, 05 चेकबबुक, 03 मोबाइल बिल बुक एवं 10 विभिन्न बैंको के एटीएम कार्ड जप्त किये गये है एवं अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

पकड़े गए आरोपी 

1 आशीष यादव पिता ब्रज बिहारी यादव नि. स्थाई गणेशपुरा जिला टीकमगण वर्तमान पता साउथ एक्सटेंशन दिल्ली ग्रेजुएट इंस्टाग्राम पर विज्ञापन देना, ग्राहको से वाट्सअप के माध्यम से संपर्क करना एवं धोखाधडी हेतु फर्जी बिल तैयार कर भेजना
2 अंकित नामदेव पिता दिनेश चंद्र नामदेव टहरौली जिला झांसी उत्तर प्रदेश हाल निवास गुरसराय जिला झांसी ग्रेजुएट स्वयं के नाम पर फर्जी खाते खुलवाकर पैसे लेकर बेचना
3 अंकित कुमार पिता सुरेश कुमार निवासी ऐरच तहसील ठहरौली जिला झांसी उत्तर प्रदेश 12वी फर्जी खाते खरीदकर आरोपी आषीष यादव को बेचना एवं खातो में ठगी का पैसा आने पर खातो से पैसे नगद निकालकर कमीषन काटकर अन्य खातो में जमा करना
4 अभिषेक यादव पिता भारत सिंह यादव निवासी सेंदरी जिला निवाड़ी मध्य प्रदेश 12वी स्वयं के नाम पर फर्जी खाते खुलवाकर पैसे लेकर बेचना
5 अभिषेक यादव पिता हरेंद्र यादव निवासी सेंदरी जिला निवाड़ी मध्य प्रदेश, हाल निवासी शिव कॉलोनी , झांसी उत्तर प्रदेश ग्रेजुएट फर्जी खाते खरीदकर आरोपी आषीष यादव को बेचना एवं खातो में ठगी का पैसा आने पर खातो से पैसे नगद निकालकर कमीशन काटकर अन्य खातो में जमा करना।

 


About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj

Other Latest News