गणेश उत्सव और मोहर्रम में सार्वजनिक आयोजन पर रोक, बड़ी मूर्तियां, ताजिया निर्माण पर पाबंदी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
कोरोना काल (Corona Period) में आने वाले सभी त्यौहारों (Festivals) जैसे गणेश उत्सव तथा मोहर्रम आदि में किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन नहीं होगा| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj SIngh Chauhan) ने कहा कि आगे आने वाले त्यौहारों जैसे गणेश उत्सव तथा मोहर्रम आदि में किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन तथा समागम न हों यह सुनिश्चित किया जाए। इस उद्देश्य से यदि कहीं बड़ी मूर्तियों और ताजिए आदि का निर्माण आरंभ हो रहा है तो उस पर तत्काल पाबंदी लगाई जाए। धार्मिक कार्यक्रम घरों में ही हों, यह सुनिश्चित करें।

श्री चौहान वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना में प्रदेश का रिकवरी रेट 74.7 प्रतिशत हो गया है। सभी जिले मास्क पहनने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्यता सुनिश्चित करें। यह कोरोना संक्रमण को रोकने में प्रभावी हैं। होम आइसोलेशन के साथ-साथ कोरोना की चैन तोड़ने के लिए जहाँ-जहाँ आवश्यक हो वहाँ संस्थागत क्वारेंटाइन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

टेस्टिंग क्षमता में लगातार हो रही है वृद्धि
समीक्षा में बताया गया कि प्रदेश में टेस्टिंग क्षमता में लगातार विस्तार हो रहा है। अब 20 हजार से अधिक टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं। अब तक कोरोना से प्रभावित 42 हजार 618 में से 31 हजार 835 व्यक्ति स्वस्थ हुए हैं। वर्तमान में सक्रिय केस 9 हजार 718 हैं।

राजगढ़ तथा सीधी जिले की समीक्षा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राजगढ़ तथा सीधी जिले की विशेष रूप से जानकारी ली। राजगढ़ में 54 कंटेनमेंट एरिया बनाए गए हैं। मास्क न पहनने पर जुर्माना तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर प्रभावी कार्रवाई लगातार जारी है। राजगढ़ कलेक्टर को निर्देश दिए गए हैं कि जो परिवार होम आइसोलेशन के प्रावधानों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें संस्थागत क्वारेंटाइन में रखा जाए। इसी प्रकार सीधी जिले में प्रकरणों की समीक्षा तथा उपलब्ध क्षमता की जानकारी ली गई।

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि होम आइसोलेशन तथा संस्थागत क्वारेंटाइन पर विस्तृत दिशा-निर्देश जिलों को जारी किए गए हैं। जबलपुर, मुरैना, खरगोन, नीमच, मंदसौर, रतलाम, सागर, इंदौर जिलों की समीक्षा भी की गई। कोरोना की समीक्षा में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित अन्य अधिकारीगण ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here