weather

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। नवंबर के दूसरे सप्ताह में मध्यप्रदेश में ठंड (weather) ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। समूचा उत्तर भारत कड़ाके की ठंड (winter season) की चपेट में है और वहां से आ रही सर्द हवाओं के कारण राजधानी भोपाल सहित ज्यादातर इलाकों में सर्दी बढ़ गई है। 

उत्तर भारत के पहाड़ों पर हो रही जबरदस्त बर्फबारी का असर प्रदेश में भी देखने को मिल सकता है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शुक्रवार के बाद भोपाल सहित कुछ स्थानों पर बादल छाए रहेंगे। शुक्रवार को उत्तर भारत में एक पश्चिमी विक्षोभ के पहुंचने पर शुक्रवार-शनिवार की रात के तापमान में एक-दो डिग्री तक की बढ़ोतरी की संभावना भी है। इसी के साथ रविवार सोमवार को ग्वालियर-चंबल संभाग में बारिश होने की संभावना भी जताई गई है। पश्चिमी विक्षोभ गुजरने के बाद ठंड और तेज़ होगी। 17 नबंवर को इस सिस्टर के आगे बढ़ जाने के बाद हवाएं फिर उत्तरी भारत का रूख कर लेंगी जिससे सर्दी में तेज़ी आएगी। नवंबर के अंतिम सप्ताह में प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर शीतलहर की भी संभावना है।