मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों के बीच दावेदारों की दौड़-भाग शुरू

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में शिवराज मंत्रिमंडल (Shivraj Cabinet) के विस्तार की अटकलों के बीच मंत्री बनने के लिए नेताओं की दौड़ शुरू हो गई है| गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) के बंगले पर इन दिनों नेताओं का जुटना शुरू हो गया है| संभावना है जल्द ही शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे| इन अटकलों के बीच सोमवार को कमलनाथ सरकार में खनिज मंत्री रहे प्रदीप जायसवाल (Pradeep Jaiswal) प्रभुराम चौधरी (Prabhuram Chaudhary) और पूर्व विधायक एंदल सिंह कंसाना नरोत्तम मिश्रा से मिलने पहुंचे| इन मुलाकातों को कैबिनेट विस्तार से जोड़कर देखा जा रहा है|

दरअसल, कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री शिवराज ने कैबिनेट में सिर्फ पांच मंत्री बनाये| सूत्रों के मुताबिक अब शिवराज कैबिनेट विस्तार करने जा रहे हैं| इसको लेकर अंदरखाने तैयारी तेज हो गई है| इस बीच मंत्री बनने की ख्वाइश लिए नेताओं ने जोरआजमाइश शुरू कर दी है, मुलाकातों का दौर शुरू हो गया है| सोमवार को पूर्व मंत्री व निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल, प्रभुराम चौधरी और पूर्व विधायक एंदल सिंह कंसाना गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मिलने पहुंचे| हालाँकि इस मुलाकात के कारण को मंत्रिमंडल से जोड़े जाने पर नेताजी जवाब टालते रहे| लेकिन अलग अलग समय पर पहुंचे यह नेता मंत्री बनने की कतार में है| पूर्व खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल निर्दलीय विधायक हैं, और कमलनाथ सरकार गिरने के बाद पाला बदल लिया| वहीं एंदल सिंह कंसाना ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे से नहीं आते हैं, लेकिन कांग्रेस में उपेक्षा से नाराज होकर उन्होंने भाजपा का साथ दिया| अब मंत्री बनने की कतार में है| दिग्विजय समर्थक कहे जाने वाले एंदल सिंह कंसाना ने मंत्रिमंडल विस्तार से पहले से नरोत्तम मिश्रा से बंद कमरे में 45मिनिट तक चर्चा की|

मंत्रिमंडल में सिंधिया समर्थकों की बढ़ेगी संख्या
संभावना जताई जा रही है कि अगले विस्तार में 22 मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है। इसमें आठ से 10 पूर्व विधायक पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक भी होंगे। फिलहाल शिवराज कैबिनेट में सिर्फ पांच मंत्री हैं। इनमें से दो सिंधिया समर्थक और तीन भाजपा के कोटे से हैं। सिंधिया कोटे से इमरती देवी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युमन सिंह तोमर और प्रभु राम चौधरी के केबिनेट में शामिल होने की संभावना है। वहीं हरदीप सिंह डंग, एदल सिंह कंषाना और बिसाहू लाल सिंह का नाम भी चर्चा में है|