सीमेंट फैक्ट्री में 22 घंटे मशीन में लटका रहा इंजीनियर का शव, मुआवजे पर होती रही चर्चा

Engineer's-body-hanging-over-22-hours-in-cement-factory-in-rewa

 भोपाल। रीवा जिले में स्थित अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्ट्री में एक इंजीनियर का शव मशीन में 22 घंटे तक लटके रहने का दर्दनाक मामला सामने आया है। संवेदनहीन यूनियन एवं कंपनी के कर्मचारी मुआवजा को लेकर मांग करते रहे। कंपनी प्रबंधन शव निकालने की वजाए हर्जाने की राशि कम करने के लिए जुटा रहा। मौके पर स्थानीय विधायक भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने कंपनी प्रबंधन से बात की, आखिरकार घटना के 22 घंटे में बातचीत के बाद कंपनी प्रबंधन ने मृतक के परिजनों को 40 लाख का मुआवजा व 20000 पेंशन आजीवन देने की बात कही। तब पुलिस ने शव का पंचनामा दर्ज कर पीएम के लिए संजय गांधी अस्पताल भेज दिया। 

जिले के चोरहटा के नौबस्ता चौकी की अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी  इंजीनियर शैलेंद्र (21) पिता त्रिवेणी द्विवेदी वर्ष निवासी पतेरी रामपुर बघेलान की मशीन के पट्टे में जा फंसने से गई। परिजनों को इसकी सूचना शाम करीब 5 बजे मिली। इस दौरान कंपनी प्रबंधन पूरे मामले को दबाने का प्रयास कर रहा था। हालांकि साथ में काम कर रहे अन्य सहयोगियों ने इसकी सूच���ा परिजनों तक पहुंचा दी। इसके बाद कंपनी प्रबंधन ने तत्काल प्रशासन को बुला लिया। घटना की जानकारी पर रामपुर बघेलान विधायक विक्की सिंह व सेमरिया विधायक केपी त्रिपाठी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने कंपनी प्रबंधन से बातचीत की। काफी जद्दोजहद के बाद कंपनी प्रबंधन ने 40 लाख रुपए और प्रतिमाह 20000 पेंशन देने की बात स्वीकार कर ली। इस मामले में संभागायुक्त अशोक भार्गव ने जांच के आदेश दिए हैं।