कमलनाथ का आरोप, ‘गरीबों को मिल रहा घटिया राशन, चावल में आ रही बदबू’

भोपाल| कोरोना (Corona) संकट काल में गरीबों, जरूरतमंदों को मिलने वाले राशन को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने शिवराज सरकार (Shivraj Government) को घेरा है| उन्होंने आरोप लगाया है कि ज़रूरतमंदो को ठीक से राशन तक नहीं मिल पा रहा है। सरकारी राशन मिल भी रहा है वो बेहद निम्नस्तरीय क्वालिटी का है|

कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा- “कोरोना महामारी के संकट के इस दौर में प्रदेश में आज भी ग़रीबों को , कामगारों को , मज़दूरों को , ज़रूरतमंदो को ठीक से राशन तक नहीं मिल पा रहा है। जो सरकारी राशन मिल भी रहा है वो बेहद निम्नस्तरीय क्वालिटी का है , ऐसी शिकायतें कई स्थानो से आ रही है”।

चावल से आ रही बदबू, राशन अच्छी क़्वालिटी का मिले
उन्होंने कहा “पहले कुछ स्थानो पर निर्धारित मात्रा से कम आटा निकला , अब शिकायतें आ रही है कि दिये जा रहे चावल की क्वालिटी बेहद घटिया है ,चावल से बदबू आ रही है। सरकार इस ओर ध्यान दे , ग़रीब-जरूरतमंदो को लॉकडाउन की इस अवधि में अच्छी क्वालिटी का राशन तो उपलब्ध कराये”।

कर्मवीर योद्धाओं को सुरक्षा के संसाधान तत्काल मिले
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे योद्धाओं की सुरक्षा का मुद्दा फिर उठाया| उन्होंने ट्वीट कर लिखा -‘सरकार भले ही कितने दावे करे , प्रदेश में आज भी पीपीई किट,मास्क,ग्लबस,सेनेटाइज़र व अन्य संसाधनो का अभाव बना हुआ है। कई जिलो में इसके अभाव में आज भी फ़ील्ड में काम कर रहे डॉक्टर्स , नर्स , मेडिकल स्टाफ़ , पुलिस कर्मी प्रतिदिन संक्रमित हो रहे है’। उन्होंने आगे लिखा ‘आशा-आंगनवाड़ी कार्यकर्ता , स्वास्थ्य कर्मी , मेडिकल स्टाफ़ सुरक्षा संसाधनो के अभाव में फ़ील्ड में अपनी जान जोखिम में डाल कोरोना के सर्वे व बचाव का काम कर रहे है। उज्जैन में डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ़ ने संसाधनो की कमी को लेकर आक्रोश जताया है’।

कमलनाथ ने कहा ‘पता नहीं सरकार इस दिशा में ठोस कदम क्यों नहीं उठा रही है ? हम सरकार से रोज़ माँग कर रहे है कि फ़ील्ड में काम कर रहे कर्मवीर योद्धाओं को सुरक्षा के सारे आवश्यक संसाधन तत्काल उपलब्ध कराये जाये , सरकार इसकी आपूर्ति सुनिश्चित करे’।