पूर्व मंत्री का खुलासा,आखिर क्यों फूट फूट कर रोए सिंधिया

भोपाल।
मध्य प्रदेश सरकार की पूर्व महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने ऑपरेशन लोटस 2 का खुलासा किया है। उन्होंने बताया है कि किस तरह से ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक विधायकों को इस बात के लिए तैयार किया गया कि वे अब बगावत कर दें। इमरती ने बताया कि वह होली का त्योहार मनाने अपने मायके भांडेर गई थी। अचानक फोन आया कि जल्दी ग्वालियर आइए ।महाराज ने बुलाया है। मैंने अपने साथी मंत्रियों और विधायकों जो सिंधिया समर्थक थे को फोन लगाया तो पता चला कि उनके पास भी केवल इतनी ही सूचना है।

ग्वालियर पहुंचने के बाद हमें कहा गया कि सीधे दिल्ली चलना है ,लेकिन क्यों, यह नहीं पता ।हम सब ग्वालियर के महाराजपुरा एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़कर दिल्ली पहुंचे और उसके बाद गुड़गांव। वहां एक बड़े होटल में हमें ठहराया गया जहां सिंधिया जी आए और उनके साथ बीजेपी के कुछ नेता जी थे ।यहीं पर सिन्धिया जी ने खुलासा किया कि वे बीजेपी ज्वाइन करने वाले हैं ।उसके बाद बीजेपी के नेता चले गए और सिंधिया जी और हम लोग रह गए ।सिंधिया जी ने पूछा कि क्या तुम लोग भी मेरे साथ इस्तीफा दोगे।

इस पर मैंने यानी इमरती देवी ने कहा कि महाराज तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा। सब आपका ही तो है। इतना सुनते ही सिंधिया ने इमरती देवी को गले लगा लिया और फूट-फूट कर रोने लगे। मंत्री और विधायकों ने सिंधिया को विश्वास दिलाया कि आप एक क्षण भी जो आदेश करेंगे उसे मानने में हम देर नहीं करेंगे। सभी ने इस्तीफे के लिए हां कर दी। इसके बाद हम सबको बेंगलुरु के लिए रवाना किया गया जहां अब हम होटल में हैं और हम सब ने कांग्रेस छोड़कर इस्तीफा दे दिया है। हमारे लिए पार्टी बाद में है ।सिंधिया जी का आदेश सर्वोपरि है।