सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री सोशल मीडिया पर हो रहे ट्रोल, लोग जमकर निकाल रहे भड़ास

भोपाल। कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का कमल थामने वाले सिंधिया समर्थक कमलनाथ सरकार के 6 पूर्व मंत्रियों के सोशल मीडिया पर इन दिनों जनता जमकर भड़ास निकाल रही है। दरअसल इन पूर्व मंत्रियों द्वारा सोशल मीडिया पर कोई भी संदेश दिया जाता है तो लोग कमेंट कर-करके इनकी नींद उड़ा रहे हैं।

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा संभालने वाले पूर्व मंत्री तुलसीराम सिलावट ने पार्टी छोड़ने की वजह कमलनाथ की भ्रष्टाचार सरकार बताई तो लोगों ने सिलावट पर बेटे के माध्यम से तबादला उद्योग चलाने और खुद को 35 करोड़ रूपये में बेचने और जनता के साथ गद्दारी करने के कमेंट कर डालें । लोगों ने तो यहां तक लिख दिया कि वोट हमने सिंधिया को नहीं बल्कि कांग्रेस को 5 साल के लिए दिया था और सिलावट ने बोली लगाकर खुद को बेच दिया। इतना ही नहीं, लोगों ने ये भी लिखा कि कोरोना जब पैर पसार रहा था तब सिलावट अपना भविष्य सुरक्षित करने बेंगलुरु में थे।

एक और पूर्व मंत्री इमरती देवी के फेसबुक अकाउंट पर लोगों ने हद पार कर दी और उन्हें बेहद अश्लील गालियां तक दी। कोरोना महामारी से निपटने के लिए लोगों ने इमरती देवी से भाजपा से मिले तथाकथित 35 करोड़ रूपये में से 5 करोड़ जनता को देने का भी एलान करने को कहा । लोगों ने उनसे यह भी कहा कि आपसे दुख के समय सहयोग की अपेक्षा थी लेकिन आपने तो अपना ही ईमान बेच डाला।

यही हालत सिंधिया गुट के दूसरे मंत्रियों गोविंद सिंह राजपूत, प्रभु राम चौधरी, महेंद्र सिसोदिया और प्रद्युम्न सिंह तोमर की है। जाहिर सी बात है कि जनता का इन्हें कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में जाना सहान नहीं हो रहा। ऐसे में सोशल मीडिया पर आ रहे रिएक्शन देखकर तो यही लगता है कि आने वाले समय मे जब ये लोग उपचुनाव में मैदान में जाएंगे तो उनके लिये राह आसान नहीं होने वाली है।