रेलवे के वीआईपी गेस्ट हाउस में गैंगरेप मामला, एक और अफसर सस्पेंड

राजेश तिवारी और उसके साथ शामिल आलोक मालवीय को पहले ही किया जा चूका है निलंबित, उच्‍च स्‍तरीय जांच समिति की रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई

Gangrape bhopal railway station

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| भोपाल रेलवे स्टेशन (Bhopal Railway Station) के वीआईपी गेस्ट हाउस गैंगरेप मामले (VIP Guest House Gang rape Case) में अब एक और अधिकारी पर गाज गिरी है| रेलवे ने अतिथि गृह आवंटन के लिए जिम्मेदार सेक्शन इंजीनियर अभिजीत साहा को भी निलंबित कर दिया है। इससे पहले राजेश तिवारी और उसके साथ शामिल आलोक मालवीय को भी निलंबित किया जा चूका है| मंडल में राजेश तिवारी डीआरएम कार्यालय में सीनियर सेक्शन इंजीनियर सेफ्टी और आलोक मालवीय भोपाल स्टेशन पर सीनियर सेक्शन इंजीनियर विद्युत के पद पर कार्यरत थे।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक उच्च स्तरीय जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की गई। दुष्कर्म में शामिल राजेश तिवारी व आलोक मालवीय के लिए अभिजीत साहा ने वीआईपी गेस्ट हाउस खुलवाया था| पुलिस ने दोनों आरोपियों राजेश और आलोक के बयान दर्ज कर उन्हें न्यायालय में पेश कर दिया। जहां से दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।

यह है मामला
शनिवार को रेलवे स्टेशन गेस्ट हाउस में युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। आरोप है कि यूपी के महोबा की रहने वाली 22 वर्षीय पीड़िता की तिवारी से फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। तिवारी ने उसे नौकरी दिलाने के बहाने भोपाल बुलाया था। जिसे स्टेशन पर बने रेलवे के वीआईपी रेस्ट रुम में ठहराया। आरोप है कि युवती को कोल ड्रिंक्स बताकर शराब पिला दी। उनके नशे में होने का फायदा उठाकर दोनों ने एक-एक कर उससे ज्यादती की थी। घटना के बाद पीड़िता ने थाने पहुंच कर शिकायत की।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक उच्च स्तरीय जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की गई। दुष्कर्म में शामिल राजेश तिवारी व आलोक मालवीय के लिए अभिजीत साहा ने वीआईपी गेस्ट हाउस खुलवाया था| पुलिस ने दोनों आरोपियों राजेश और आलोक के बयान दर्ज कर उन्हें न्यायालय में पेश कर दिया। जहां से दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।

यह है मामला
शनिवार को रेलवे स्टेशन गेस्ट हाउस में युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। आरोप है कि यूपी के महोबा की रहने वाली 22 वर्षीय पीड़िता की तिवारी से फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। तिवारी ने उसे नौकरी दिलाने के बहाने भोपाल बुलाया था। जिसे स्टेशन पर बने रेलवे के वीआईपी रेस्ट रुम में ठहराया। आरोप है कि युवती को कोल ड्रिंक्स बताकर शराब पिला दी। उनके नशे में होने का फायदा उठाकर दोनों ने एक-एक कर उससे ज्यादती की थी। घटना के बाद पीड़िता ने थाने पहुंच कर शिकायत की।