‘पाला प्रभावित किसानों को जल्द राहत दे सरकार’, शिवराज ने CM को लिखा पत्र

Government-gives-relief-to-affected-farmers-soon-Shivraj-writes-letter-to-CM-kamalnath

भोपाल| पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखा है| शिवराज ने शीतलहर व पाले से खराब हुई फसलों के लिए किसानों को उचित राहत व् मुआवजा देने की मांग सरकार से की है| मध्य प्रदेश के कई जिलों में पाले से धनिया, आलू, चना और बेंगन की फसल को भारी नुकसान हुआ है। पूर्व सीएम ने कई जिलों के गांवों में दौरे कर प्रभावित फसलों का जायजा लिया है| इसके बाद किसानों को जल्द से जल्द राहत देने की बात किसानों से की है| इससे पहले शिवराज किसानों को जल्द से राहत नहीं देने पर सरकार को आंदोलन की चेतावनी भी दे चुके हैं| 

दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पाला पीड़ित किसानों का दर्द जानने के लिए प्रदेश की यात्रा पर निकले| इस दौरान शिवराज जहां-जहां पाला ज्यादा पड़ा है, उन क्षेत्रों के किसानों से मिले और फसलों का जायजा लिया| शिवराज पहले भी सरकार को किसानों को मुआवजा देने की मांग कर चुके हैं| अब उन्होंने सीएम को पत्र लिखा है| जिसमे उन्होंने लिखा है कि उन्होंने राजगढ़ और उज्जैन जिले के कई गांवों में फसल नुक्सान का जायजा लिया है और किसानों से बातचीती की है| उन्होंने कहा पाले से फसलों का अत्यधिक नुकसान हुआ है, चने की फसल नष्ट हो गई है, आलू की फसल भी पाला प्रभावित होकर नष्ट हो गई है साथ ही धनिया एवं मसूर की फसल को भी नुक्सान पहुंचा है बैंगन की फसल भी पूरी तरह नष्ट हुई है| उन्होंने लिखा है कि प्रभावित गांवों के किसानों ने मुझे बताया है कि जिला प्रशासन द्वारा अभी तक किसी भी प्रकार का सर्वे नहीं कराया गया है और मौके पर अभी तक किसानों की तकलीफ को जानने शासन एवं प्रशासन का कोई भी जिम्मेदार जनप्रतिनिधि अधिकारी नहीं पहुंचा है| हमारे अन्नदाता किसान बंधुओं को इस स्थिति में तत्काल सहायता की आवश्यकता है, किसानों को संकट की इस घड़ी में राहत मिलना चाहिए| 

यह की मांग 

-नष्ट हुई फसलों का तत्काल सर्वे कराकर किसानों को मुआवजा एवं राहत प्रदान की जाए

-आगामी फसल के लिए खाद एवं बीज के लिए 0% ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराया जाए

-बैंगन की फसल को प्रभावित फसलों में सम्मिलित किया जाए

-प्रभावित किसानों के बिजली के बिल माफ किया जाए

-प्रभावित किसानों के परिवार में विवाह बीमारी जैसी स्थितियों के लिए शासन विशेष सहायता प्रदान करें