मंत्रिमंडल गठन के बाद अब इस विधायक ने बढाई कांग्रेस की मुसीबत

jayas-hiralal-aalawa-want-to-meet-rahul-gandhi-

भोपाल। 

जय युवा आदिवासी संगठन (जयस) के अध्यक्ष और कांग्रेस से विधायक डॉ. हीरा अलावा की नाराजगी कम होने का नाम नही ले रही है। मंत्री ना बनाए जाने के कारण उन्होंने अब कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का समय मांगा है। इसी के चलते वे मंगलवार को मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में भी नही पहुंचे थे और उन्होंने मंत्री पद के लिए राहुल गांधी को पत्र भी लिखा था, लेकिन जवाब ना मिलने की वजह से अब उन्होंने सीधा उनसे मिलने का समय मांगा है।ऐसे में अब कांग्रेस की मुश्किलें बढती हुई नजर आ रही है।

बताते चले कि इससे पहले अलावा ने सोशल मीडिया पर खुली चेतावनी देते हुए कहा था कि जयस को अनदेखा करना कांग्रेस की बड़ी भूल होगी।उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भी वादाखिलाफी का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले कमलनाथ ने उनसे सरकार बनने पर मंत्रिमंडल में शामिल करने का वादा किया था। उन्हें ये नहीं भूलना चाहिए की प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में आदिवासियों ने कितना योगदान दिया है।इसी के चलते अलावा ने अब राहुल गांधी से मिलने का समय मांगा है । खबर है कि वे राहुल से मुलाकात कर आगे की रणनीति तय करेंगे। 

शिक्षा मंत्री बनने चाहते थे अलावा

आपको बता दे कि धार जिले के मनावर विधानसभा क्षेत्र से डॉ. अलावा कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीते हैं। जयस और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन के चलते यह विधानसभा क्षेत्र उन्हें दिया गया था। जयस का मालवा निमाड़ क्षेत्र में प्रभाव है और कांग्रेस ने जयस से समझौता कर एक सीट जयस को दी थी। जयस के साथ हुए समझौते से कांग्रेस को मालवा निमाड़ में बड़ी सफलता मिली है। पेशे से डॉक्टर अलावा ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री बनाए जाने की मांग की थी। अलावा ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से कहा था कि संगठन की उम्मीद है कि जयस को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए। लेकिन मंगलवार को जारी मंत्रियों की लिस्ट में अलावा का नाम नही था जिसके चलते वे शपथ समारोह में भी नही पहुंचे थे और अब उन्होंने राहुल गांधी से मिलने का समय मांगा है।