तेल के दामों में बढ़ोतरी पर बोले कमलनाथ, ‘राहत देने के समय में जनता पर दोहरी मार थोप रही सरकार’

भोपाल| मध्य प्रदेश सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक-एक रुपए अतिरिक्त कर बढ़ा दिया है। इसके बाद अब प्रदेश में पेट्रोल पर अतिरिक्त कर कुल 4.50 रुपए और डीजल पर 3 रुपए प्रति लीटर हो गया है। कोरोना संकट के बीच पेट्रोल डीजल पर टैक्स बढ़ाने पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा है| पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा यह राहत देने का समय है, लेकिन जनता पर महंगाई की दोहरी मार थोपी जा रही है।

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा ‘कोरोना महामारी के इस संकट काल में जनता को पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले करो में कमी कर राहत देने का समय है लेकिन इस संकट काल में भी उन पर करों में बढ़ोतरी कर , जनता पर महंगाई की दोहरी मार थोपी जा रही है’।

उन्होंने आगे लिखा ‘एक तरफ कच्चा तेल सस्ता हो रहा है , वहीं दूसरी तरफ पेट्रोल-डीजल के दामों में निरंतर बढ़ोतरी हो रही है। पहले केंद्र सरकार ने जनता को राहत देने की बजाय पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर खुद के खजाने को भरने का काम किया’| ही अब मध्य प्रदेश की सरकार ने इस संकट काल में पेट्रोल और डीजल पर एक 1-1 रुपये का अतिरिक्त कर बढ़ाकर जनता को महंगाई की आग में झोंकने का काम किया है

कमलनाथ ने कहा ‘प्रदेश में पेट्रोल पर पूर्व में ही 33% वैट , 1% सेंस व 3.5 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था।वहीं डीजल पर 23% वैट , 1% सेंस व 2 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था। अतिरिक्त करों में इस बढ़ोतरी से अब पेट्रोल व डीज़ल में अभी तक का सर्वाधिक टैक्स हो गया है’।