WIN ’29’: MP की इन 10 सीटों पर सिंगल नाम तय, 15 को जारी हो सकती है पहली लिस्ट

lok-sabha-lok-sabha-elections-2019-congress-decides-single-names-in-mp-10-lok-sabha-constituencies

भोपाल।

चुनाव आयोग द्वारा तारीखों ऐलान होते ही कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों तेजी कर दी है। खबर है कि सोमवार को दिल्ली में देर रात तक चली कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में  29 में से डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोकसभा क्षेत्रों के पैनलों पर चर्चा हुई।जिसमें करीब दस सीटों पर उम्मीदवारों के सिंगल नाम तय कर लिए गए है। अब स्क्रीनिंग कमेटी दोबारा बैठेगी और प्रत्याशियों के नाम पर मोहर लगाएगी। संभावना है कि 15 मार्च के आसपास प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी जाएगी।

दरअसल, सोमवार को पार्टी नेता सोनिया गांधी के निवास पर कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक हुई। जिसमें मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित प्रदेश प्रभारी महासचिव दीपक बाबरिया और प्रभारी सचिव शामिल हुए। उम्मीद थी कि लोकसभा की 29 में से करीब 20 सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम पर मुहर लग जाएगी और लिस्ट जारी कर दी जाएगी। लेकिन ऐसा नही हुआ। बैठक में केवल दस सीटों पर सहमति बन पाई।  पिछले दिनों स्क्रीनिंग कमेटी की दो बैठकों में जिन सीटों पर प्रत्याशियों के चयन की चर्चा हुई थी, लगभग उन सभी सीटों के पैनलों को केंद्रीय चुनाव समिति के सामने रखा गया। अब एक दो दिन में दोबारा एक बैठक होगी और फिर नाम फायनल किए जांएंगें।

तय माने जा रहे है इनके नाम

समिति में जिन सीटों पर सिंगल नाम सामने आए हैं, उनमें मुरैना से रामनिवास रावत, गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया, छिंदवाड़ा से नकुलनाथ, रतलाम से कांतिलाल भूरिया, धार से गजेंद्र सिंह राजूखेड़ी, खंडवा से अरुण यादव, बैतूल से अजय शाह, दमोह से रामकृष्ण कुसमरिया, सतना से अजय सिंह और सीधी से राजेंद्र सिंह बताए जा रहे हैं।

इन सीटों पर अब भी संशय बरकरार

सूत्र बताते हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के राजगढ़ से चुनाव लड़ने की अटकलें हैं, लेकिन हाईकमान उन्हें इंदौर या भोपाल जैसी सीट पर प्रत्याशी बनाने के मूड में है। इसी तरह मंदसौर से मीनाक्षी नटराजन के लिए सर्वे रिपोर्ट में चुनाव आसान नहीं बताया जा रहा है, लेकिन वे अपने से अच्छा प्रत्याशी क्षेत्र में लाए जाने की स्थिति में ही सीट छोड़ने को तैयार बताई जा रही हैं।इसी तरह भिंड में महेंद्र बौद्ध के प्रत्याशी बनाए जाने के सिंगल नाम पर मामला अटक गया है, क्योंकि यहां मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने पार्टी के बाहर के एक नेता को लाकर चुनाव में उतारने का विकल्प प्रदेश नेतृत्व के सामने रख दिया है।

इन सीटों पर युवा-महिला को उतारने के मूड में कांग्रेस

प्रदेश में पहले चरण में 29 अप्रैल को सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और छिंदवाड़ा सीट के चुनाव होना हैं। इसलिए सीईसी में छिंदवाड़ा को छोड़कर बाकी सीटों पर उम्मीदवारों के पांच नामों के जो पैनल मिले हैं, उन्हें सिंगल किए जाने पर चर्चा हुई। साथ ही गुरुवार को होने वाली स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में 19 सीटों पर नाम चयन को लेकर नई  नीति और नियम तैयार किए जाएंगे।टीकमगढ़, दमोह, होशंगाबाद, बैतूल, खजुराहो, रीवा, मुरैना, भिंड, भोपाल, विदिशा, देवास, उज्जैन और  इंदौर ऐसी सीटें हैं जहां प्रत्याशियों का चयन बाद में किया जाएगा। इन सीटों पर पार्टी नए युवा चेहरों और महिलाओं को मौका देने पर विचार कर रही है।

बैठक में सीटों को लेकर सैद्धांतिक चर्चा हुई। दोबारा फिर से बैठक होगी उसमें नाम फायनल होंगे।अभी हमारे पास बहुत समय है। हमें घोषणा करने की जल्दी नहीं है।  उम्मीदवार कैसा हो, बैठक में इस पैमाने पर भी मंथन हुआ।

कमलनाथ, मुख्यमंत्री, मध्यप्रदेश