उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश को मिल सकता है नया जिला

भोपाल/देवास, सोमेश उपाध्याय| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (Byelection) से पहले नया जिला अस्तित्व में आ सकता है| इसके लिए प्रशासनिक कार्यवाहियां शुरू हो चुकी हैं| देवास (Dewas) की बागली (Bagli) तहसील को पृथक जिला बनाने की घोषणा पिछले दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने की थी| चर्चा है कि उपचुनाव से पहले सीएम की घोषणा पूरी हो सकती है|

दरअसल, बागली को जिला बनाने की मांग लम्बे समय से चल रही है| मुख्यमंत्री शिवराज बागली को जिला बनाने का वादा कर चुके थे| जिसके बाद गत 14 जुलाई को देवास की बागली तहसील को पृथक जिला बनाने की घोषणा सीएम ने की थी| मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद से क्षेत्र के लोगों में भी उत्साह है। वर्षों से विकास की धारा से पिछड़े हुए क्षेत्र को अब तेज गति से विकास की उम्मीदें नजर आ रही है। जिला बनाने की मांग को पूरजोर तरीके से उठाने वाली बागली जिला बनाओ समिति के सदस्य भी उत्साहित है और वे जल्द ही घोषणा को मूर्त रुप देने की मांग कर रहे हैं।

पूर्व सीएम की इच्छा होगी पूरी
बागली जिला बने, यह पूर्व सीएम कैलाश जोशी की इच्छा थी। पूर्व मंत्री दीपक जोशी की मंशा है कि उनके पिता की अंतिम इच्छा उनकी प्रथम पुण्यतिथि पर पूरी हो| जिसके चलते इसलिस कयास लगाए जा रहे है कि आगामी 24 नवम्बर को पूर्व सीएम स्व.कैलाश चन्द्र जोशी की प्रथम पुण्यतिथि पर ही सीएम बागली को पृथक जिला बना सकते है!

मांगी गई जानकारी
सूत्रों के मुताबिक, बागली को जिला बनाने की कागजी कार्यवाही आरम्भ कर दी गई है। कलेक्टर द्वारा बागली की भौगोलिक व परिसीमन से जुड़ी अन्य जानकारियां भी जुटाई जा रही है| सूत्रों के अनुसार जिला गठन की प्रक्रिया को लेकर राजस्व विभाग कार्यालय भोपाल द्वारा कमिश्नर व कलेक्टर को प्रेषित पत्र में नए जिले के गठन के संदर्भ में जानकारी चाही गई है। पत्र के अनुसार बागली जिले के गठन के लिए आवश्यक जानकारी भेजे जाने का निर्देश है। पत्र के अनुसार तहसील की जनसंख्या, ग्राम की संख्या, नगरीय निकाय की जानकारी, कुल रकबा, राजस्व प्रकरणों की जानकारी सहित विस्तार से कई जानकारी मांगी गई है। इस पत्र के तारतम्य में एसडीएम को पत्र प्रेषित कर उपरोक्त जानकारी के लिए निर्देश दिया है।