Bhopal Coronavirus: Lockdown से पहले बड़ा विस्फोट, 190 की रिपोर्ट पॉजिटिव

भोपाल।
मध्यप्रदेश (madhypradesh) की राजधानी भोपाल में कोरोना बेकाबू हो चला है। यहां दिनों दिन आंकड़ों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। रोजाना 100 से ज्यादा नए मरीज मिल रहे है।आज गुरुवार को राजधानी भोपाल में फिर 190 कोरोना पॉजिटिव सामने आए है। यह अबतक का सबसे बड़ा आंकड़ा माना जा रहा है।इसके बाद भोपाल में कुल कोरोना पॉजिटिवों की संख्या 4990 हो गई है, जिसमें से 3304 ठीक हो गए है और 1538 एक्टिव केस है। वही अबतक 148 की मौत हो गई है।लगातार बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए 24 जुलाई से दस दिन का लॉकडाउन लगाया गया है।

दरअसल, बुधवार देर रात आई रिपोर्ट में 190 नए मरीज मिले है।इसमें शिवाजी नगर से जुड़े हुए अलग अलग 4 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 19 शिवाजी नगर से एक ही परिवार के 5 सदस्य कोरोना संक्रमित निकले। सीआरपीएफ कैंप भोपाल से 2 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।आरएफ कैंप हिनौतिया से 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्प्रिंग वैली कटारा हिल्स से एक ही परिवार के दो लोग कोरोना संक्रमित निकले। डीएसपी सीआईडी मुख्यालय से 1 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

Mpsc फाइनेंस कार्पोरेशन से 1 और रवेरा टाउन और अरेरा कालोनी से एक एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित निकला है। जहांगीराबाद क्षेत्र से 3 लोग कोरोना संक्रमित निकले।पलक होटल रायसेन रोड पुलिस लाइन 4 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। Eme सेंटर से 4 लोग कोरोना संक्रमित निकले। पत्रकार कालोनी से 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बंगरसिया से 107 वीं बटालियन का एक जवान कोरोना संक्रमित निकला है। वहीं आरएफ के तीन जवान और Itbp का एक जवान पॉजिटिव निकला है।बी नवीन नगर ऐशबाग से एक ही परिवार के चार लोग पॉजिटिव निकले।

24 से 10 दिन का टोटट लॉकडाउन
यहां बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए 24 जुलाई से फिर लॉकडाउन लगाया जा रहा है।शुक्रवार से भोपाल में 10 दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है। जो भोपाल के बाहर हैं वो लॉकडाउन के पहले वापस आ सकते हैं। 24 जुलाई शुक्रवार रात आठ बजे से 10 दिन के लिए पूरा भोपाल लॉक डाउन रहेगा। इस दौरान दवाइयां, सब्जी के ठेले, दूध की दुकान, इंडस्ट्री और सरकारी राशन की दुकानें खुली रहेंगी| इसके अलावा पूरा भोपाल लॉक डाउन रहेगा। भोपाल में आने और बाहर जाने के लिए इ-पास की व्यवस्था रहेगी। गृहमंत्री ने अपील की है कि अगले दो दिनों में जो भी जरुरत का सामान हो ले लें। सरकारी राशन की दुकानों को दो दिनों में राशन वितरण के निर्देश दिए गए हैं| इंडस्ट्रीज खुली रहेंगी। अगली कैबिनेट की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी।