उमा के पत्थर पर बोले मंत्री जी, ‘दुकानदार कराए FIR, सरकार थोड़ी कराएगी,

सरकार की लिकर पॉलिसी से ही हमारा बड़ा रिवेन्यू कलेक्शन होता है। जिसको पीना है वो पीये जिसको नहीं पीना वह नहीं पिए। बस इतना है कि अवैध चीज नहीं होना चाहिए और लाइसेंस के माध्यम से ही शराब बिकनी चाहिए।

महेन्द्र सिंह सिसौदिया

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। शराब की दुकान पर उमा भारती द्वारा पत्थर फेंके जाने को लेकर मध्य प्रदेश के पंचायत मंत्री महेंद्र सिसोदिया का बड़ा बयान आया है। मंत्री जी ने कहा है कि जिस दुकानदार की दुकान पर पत्थर फेंका उसी ने रिपोर्ट नहीं कराई जबकि FIR उसी को करानी थी। सरकार FIR थोड़ी कराएगी।

पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने साफ कहा कि जिस की दुकान टूटी है उसे FIR करानी चाहिए। पीड़ित वही है। उसी की फरियाद पर रिपोर्ट दर्ज होगी। सरकार रिपोर्ट थोड़ी दर्ज कराएगी। अगर वही कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है तो फिर काहे की कार्रवाई होगी। इतना ही नहीं, मंत्री जी ने साफ माना कि गुजरात जैसे राज्य में नशाबंदी लागू है वहां पर सबसे ज्यादा शराब स्मगलिंग अगर हो रही है तो महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से हो रही है।

यह भी पढ़ें…राम नवमी को लेकर सीएम शिवराज ने जनता से की ये अपील

मंत्री जी ने यह भी कहा कि जहां पाबंदी होती है वहां लोग नियम कायदे तोड़कर शराब पीते हैं। इतना ही नहीं, मंत्री जी ने यह भी कहा कि राजस्व एक महत्वपूर्ण चीज है और मध्य प्रदेश में आज आय का एक प्रमुख साधन शराब है। सरकार की लिकर पॉलिसी से ही हमारा बड़ा रिवेन्यू कलेक्शन होता है। जिसको पीना है वो पीये जिसको नहीं पीना वह नहीं पिए। बस इतना है कि अवैध चीज नहीं होना चाहिए और लाइसेंस के माध्यम से ही शराब बिकनी चाहिए। हालांकि बाद में मंत्री जी ने यह भी कहा कि मेरा व्यक्तिगत सोच है।