MP News : शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, नवीन परियोजना में खर्च होंगे 8000 करोड़ रुपए, 6 महीने में पूरा होगा काम, सभी जिलों को मिलेगा लाभ

MP Development Work : मध्यप्रदेश में फिर से परियोजना कार्य को बल दिया जा रहा है। लगातार सीएम शिवराज अधिकारी कर्मचारियों को निर्देश दे रहे हैं। इसी बीच प्रदेश में सड़कों की मरम्मत के कार्य में तेजी लाई जाएगी। इसके लिए 6 महीने का समय तय किया गया है, वहीं 8100 करोड़ से अधिक राशि खर्च करने की तैयारी की गई है। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए इस तैयारी को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

प्रदेश में सड़कों को सुधारने की तैयारी की गई है। इसके लिए 8000 करोड़ से अधिक रुपए खर्च किए जाएंगे। सड़क के मेंटेनेंस के लिए राज्य सरकार द्वारा एक बड़ा कदम उठाया जा रहा है। सरकार द्वारा इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों के गड्ढे वाली सड़कों को सुधारने का काम व्यापक स्तर पर किया जाएगा।

इसके लिए प्रदेश के राष्ट्रीय राज्य मार्ग, राज्य और जिला मार्ग सहित अन्य श्रेणी की सड़कों को दुरुस्त करने की तैयारी की गई है। कुल 70000 किलोमीटर से अधिक की लंबाई भरी सड़कों को दुरुस्त किया जाना है। इनमें 15,000 से अधिक किलोमीटर की लंबाई वाली सड़क राष्ट्रीय राजमार्ग की तरफ जाती है, जिससे दूरस्थ किया जाना है।

खुद निरीक्षण पर निकले थे सीएम शिवराज

शहरी क्षेत्रों में भी सड़कों को सुधारने की तैयारी की गई है। सड़कों के गड्ढे की वजह से दुर्घटनाएं बढ़ रही है। जिसके कारण इसमें सुधार के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा निर्देश दिए गए हैं। इससे पहले सीएम शिवराज खुद निरीक्षण पर निकले थे। इस दौरान सड़कों की जर्जर अवस्था पर उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई।

शहरी सड़कों को सुधारने 850 करोड रुपए की मांग

वही नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा शहरी सड़कों को सुधारने के लिए 850 करोड रुपए की मांग राज्य शासन से की गई है, जिसपर जल्द ही नगरीय प्रशासन विभाग को यह राशि मुहैया कराई जानी है। वहीं आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सड़क मेंटेनेंस के कार्य को पूरा किया जा सकता है।सीएम शिवराज भी खुद हर विभाग की कार्यशैली पर नजर बनाए हुए हैं।

सड़कों को सुधारने 6 महीने का समय तय

इसके अलावा 7000 किलोमीटर से अधिक सड़कें ऐसी है, जो बेहद जर्जर अवस्था में पहुंच गई है। इससे लोगों का आवागमन बेहद मुश्किल हो गया है। जिस पर अब इसमें सुधार की तैयारी की गई है ।बड़े स्तर पर इसके लिए अभियान चलाया जा रहा है। सड़कों को सुधारने के लिए 6 महीने का समय तय किया गया है।