MP News : प्रदेश के कलेक्टर्स, कमिश्नर और आईपीएस की बैठक में खुश नजर आए शिवराज, दी शाबाशी, साथ ही दिए निर्देश

MP CM Shivraj Review Meeting  News : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कलेक्टर्स, कमिश्नर और पुलिस अधीक्षक, पुलिस महानिरीक्षक कांफ्रेंस ली, इस कांफ्रेंस में सीएम शिवराज ने पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की दिल खोलकर तारीफ की,उन्होंने कहा- कोविड के दौरान हमारे पुलिस के साथियों ने जिस प्रकार काम किया, वो अभिनंदन के योग्य है। अपनी जिंदगी दाँव पर लगाकर आप लोग लोगों को सुरक्षित करने के लिए सड़कों पर थे। हमारे प्रशासन और पुलिस के साथी शहीद भी हुए। सीएम शिवराज ने कहा कि कोविड के कार्यकाल में आपकी टीम ने जो काम किया, उसे जनता कभी भुला नहीं सकती है। आपने सेवा का एक नया अध्याय रचा। जब हमारे साथी बीमार हुए, तो मैंने अस्पताल से ही उनसे बात की, हम कुछ को बचा नहीं पाए। जनसेवा के मूलमंत्र को आपने साकार किया। मध्यप्रदेश शांति का टापू है। हमारे यहाँ बड़े माफिया नहीं हैं, लेकिन जो भी थे, उनकी कमर हमने तोड़ी है। डकैतों के लिए मैंने कहा है कि डकैतों को पनपने ही मत दो।

वही प्रदेश में नक्सलवाद के खिलाफ पुलिस कार्रवाई पर भी मुख्यमंत्री शिवराज ने सराहना करते हुए कहा- हमारे अभियान के लिए मैं पूरी टीम को बधाई देता हूँ। जिन पर 1.14 करोड़ रुपए का इनाम था, ऐसे 6 नक्सलियों को समाप्त किया गया है। छत्तीसगढ़ की सीमा में थोड़े-बहुत नक्सली ही बचे हैं। यह हमारी प्रतिबद्धता का परिणाम है। ऐसे लोग जो जनता की जिंदगी से खेलते हैं, ऐसे लोगों को हमने समाप्त किया है। हमारी यह लड़ाई जारी रहेगी। यह निरंतर चलने वाले अभियान हैं। पिछले साल भी अच्छी कार्रवाई हुई हैं। माँ, बहन और बेटी का सम्मान हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। कई लोगों को फांसी की सजा हुई है, आजीवन कारावास की सजा भी मिली है। कई जगह आर्थिक कमर भी तोड़ी है।

वही सीएम शिवराज ने हाल ही में। इंदौर में हुए प्रवासी सम्मेलन के शानदार और भव्य आयोजन के सम्पन होने पर खुशी और संतुष्टि जाहिर करते हुए कहा कि हमारे प्रवासी भारतीय सम्मेलन में बहुत से VIP आए, तीन राष्ट्रपति थे, कई देशों के मंत्री थे। मैं इंदौर प्रशासन को विशेष रूप से बधाई दूंगा। आपने बेहतर ढंग से व्यवस्था की जिससे मध्यप्रदेश की साख बनी है। इसके साथ ही उन्होने G-20 बैठक में भी कई देशों के लोग आएंगे। वो दुनिया में जाकर भारत की बात करेंगे। उनकी सुरक्षा से लेकर सारी चीजें इतने बेहतर ढंग से करना है, कि वो भारत का गुणगान करें।

शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश में निवेश के लिए एक अद्भुत वातावरण है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में धर्मांतरण के मामलों पर कहा कि धर्मांतरण का कुचक्र हमें विफल करना है। ऐसे तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करना है। कई जगह केवल इसलिए ट्राइबल बेटी से शादी कर लेते हैं कि उसके नाम से जमीन खरीद सकें। इस पर नजर रखने की जरूरत है।

इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में ड्रग्स माफिया के खिलाफ कार्रवाई पर भी संतोष जाहिर किया उन्होने कहा हमारा ऑपरेशन मुस्कान अच्छा चला है। ड्रग्स बेचने वालों और अवैध शराब बेचने वालों को तोड़ डालना चाहिए। हमने जो नशामुक्ति अभियान चलाया, उसके अच्छे परिणाम आए हैं। हमें नशे का अवैध व्यापार खत्म करना है, साथ में नशामुक्ति अभियान भी चलाना है। सूदखोरी एक ऐसा मामला है, जिसमें लोगों की जिंदगी दूभर कर दी जाती है। इसके लिए हमने कानून भी बनाया है, इसकी मॉनिटरिंग होना चाहिए। साइबर अपराध एक उभरती हुई चुनौती है, हम मिलकर इसके खिलाफ अभियान चलाएँ।

– हमने PFI के खिलाफ भी कार्रवाई की है। देश को कमजोर करने के लिए ऐसे संगठन काम करते रहते हैं। हमें इन पर नजर रखना है।

– पीएम श्री नरेंद्र मोदी ने हमारी पैदल गश्त की तारीफ की है।

– भ्रामक प्रचार पर हमें नजर रखना है। मुझे लगता है कि अगर कुछ भ्रामक है, तो उसका खंडन समय पर आ जाना चाहिए।

– हमारे लोगों को तकनीकी रूप से दक्ष होना चाहिए। तकनीक हमारे और जनता के बीच की दूरी कम कर सकती है।

– हमारे लिए कॉन्स्टेबल भी उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना एसपी है। चीजें मशीन की तरह नहीं चलती है, सभी के इमोशन्स होते हैं, सुख-दुख होते हैं।

– सही टीम वही है, जिसके सदस्य को लगे कि मैं अकेला नहीं हूँ, मैं एक परिवार का हिस्सा हूँ। मेरे साथ मेरा मुखिया खड़ा है। अगर काम लेने का अधिकार है, तो ध्यान रखने का भी कर्तव्य भी मेरा है।

– हमसे जनता को बहुत अपेक्षाएँ हैं। कई जगह हम बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन कई जगह सुधार की आवश्यकता है।

– जब भी संकट आता है, तो हमारा प्रशासन उदाहरण प्रस्तुत करता है। मुझे ओवरऑल बहुत संतोष है।

– बढ़ते हुए समय के साथ चुनौतियाँ नई-नई आती हैं, उसके अनुरुप हम अपने सिस्टम को अपडेट करते रहें।

वही बैठक में सीएम शिवराज ने बाल अपराध नियंत्रण से संबंधित निर्देश भी पुलिस अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि हमारे मुस्कान अभियान से बहुत सकारात्मक परिणाम आए हैं। ये अभियान फिर से चलाएँ। इसके साथ ही बैतूल, अलीराजपुर, देवास, अशोकनगर, आगर-मालवा जिलों की टीम ने गुम/खोजे गए बालक/बालिकाओं की कार्यवाही अच्छी की है, जिसके लिए मैं बधाई देता हूँ।

महिला सुरक्षा से संबंधित समीक्षा बैठक में भी सीएम ने निर्देश जारी किए है,उन्होंने कहा- हर जिलों में आप सभी ने ऐसे स्थान चिन्हित किये होंगे, जहाँ घटनाएँ होती हैं। टीम को सतर्क और तैयार रहना चाहिए, जिससे घटनाएँ न हों।
वही सीएम ने कहा कि असली हीरो’ के तहत सम्मान निरंतर करते रहें।

वही प्रदेश को किसी भी हाल में नशा मुक्त बनाने के प्रयास में उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कहा कि सभी प्रकार के नशीले पदार्थों को रोकने की आवश्यकता है। हमने जो नशामुक्ति का अभियान चलाया था, वह प्रशंसनीय था। हमें एक और अभियान चलाने की जरूरत है। नशे से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में बताएँ। इसके प्रचार का तंत्र बना लें। हम एक कैम्पेन सोशल मीडिया पर भी चलाएँ। नशे के खिलाफ जबरदस्त कार्रवाई भी होना चाहिए। हम दीनदयाल समितियों और जनअभियान परिषद को भी जोड़ सकते हैं। जो भी मादक पदार्थ जब्त होते हैं, उनको नष्ट करें। उन्हें जब्त कर के रखने की जरूरत नहीं है। नशामुक्ति के लिए जो कार्रवाई हम करते हैं, उनका प्रचार-प्रसार करें। मैं जहां भी कार्यक्रमों में जाऊँ, नशामुक्ति के लिए काम करने वालों से मिलवाएँ।

वहीं गृह विभाग से संबंधित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए है कि हमने पिछले महीनों आई आपदाओं में अच्छा काम किया है। मौसम अनुमान के आधार पर आपदा संभावित रहती है, उसकी एडवांस प्लानिंग कर लें। हमें सड़क सुरक्षा को अपनी प्रायोरिटी बनाना चाहिए। बाल अपराध को लेकर कहा है कि जितने भी अनाथ बच्चे व सड़कों पर घूमने वाले बच्चे हैं, इनके लिए हर जिला एक कार्ययोजना बनाए, हमारे पास फंड की कमी नहीं है। इनके लिए शिक्षा, भोजन और कपड़ों का इंतजाम करें। ये बच्चे एसेट बनना चाहिए, बोझ नहीं बनना चाहिए। इन बच्चों को हमें अपने हाल पर नहीं छोड़ना है। इसे गंभीरता से लें। एक मैसिव सर्वे करें कि कितने बच्चे सड़कों पर रह रहे हैं, हमें इनकी संख्या शून्य करना है।

गौरतलब है कि प्रदेश में पहली बार हॉकफोर्स द्वारा वर्षभर में 06 दुर्दान्त नक्सलियों को धराशायी किया गया। नक्सलियों पर 1.14 करोड़ रुपये का ईनाम घोषित था। उक्त नक्सलियों में 02 नक्सली डीव्हीसीएम स्तर के थे, जिनसे 02 ए.के.-47 रायफल भी बरामद की गई। नक्सल नियंत्रण हेतु संचालित अभियानों में अदम्य साहस एवं वीरता का प्रदर्शन करने वाले 07 अधिकारी/कर्मचारियों को भारत सरकार द्वारा ‘PMG’ (Gallantry) हेतु चयनित किया गया।*

– नक्सलियों पर प्रभावी कार्यवाही, आसूचना का आदान-प्रदान एवं प्रदेशों के मध्य समन्वय हेतु ‘ज्वाईंट टॉस्क फोर्स का गठन किया गया।

– इसमें मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं महाराष्ट्र राज्य के अधिकारी सम्मिलित हैं।

भू माफिया/गुंडा/शासकीय भूमि पर अवैध कब्जेधारियों के विरुद्ध की गई कार्यवाही

पंजीकृत प्रकरण के आधार पर प्रथम 5 जिले

– भोपाल
– टीकमगढ़
– इंदौर
– अशोकनगर
– सागर

भू माफिया/गुंडा/शासकीय भूमि पर अवैध कब्जेधारियों के विरुद्ध की गई कार्यवाही

मुक्त कराई गई भूमि के आधार पर प्रथम 5 जिले

– टीकमगढ़
– अशोकनगर
– ग्वालियर
– जबलपुर
– सीहोर


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News