‘मां काश मुझे समझ पाती, हमेशा के लिए जा रही हूँ’, सुसाइड नोट छोड़ छात्रा ने लगाई फांसी

NURSING-STUDENT-COMMITTED-SUICIDE-IN-BHOPAL

भोपाल। मां मैं आगे बहुत कुछ करना चाहती हूं, अभी शादी नहीं करना मुझे,,काश तुम मुझे समझ पाती। मैं जा रही हूं हमेशा के लिए दुनिया को छोड़कर, लव यू ऑल, गुड बाय। जी हां कुछ इसी तरह के अलफाजों में नर्सिंग की एक छात्रा ने सुसाइड नोट लिखा और फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। हलांकि परिजनों ने उसका शव फंदे से उतारकर जेपी अस्पताल पहुंचाया था। जहां डाक्टरों ने चेक करने के बाद में मौत की पुष्टी कर दी। बीती रात पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मरचुरी में रखवा दिया था। आज बॉडी का पीएम कराया जा रहा है। जिसके बाद में परिजनोंं के डिटेल बयान दर्ज किए जाएंगे।

एसआई आरपी अग्निहोत्री के अनुसार पतिक्षा लांडे पिता बसंत लांडे (20) निजी कॉलेज से नर्सिंग सेकंड इयर की पढ़ाई कर रही थी। परिवार में उसके माता-पिता अन्य बहने तथा दादी हैं। पिता प्लंबर हैं, जबकि मां गृहणी हैं। दुर्गा नगर के जिस सरकारी आवास में वह परिवार के साथ रहती थी, वह उसके दादा के नाम अलॉट है। पुलिस का कहना है कि बीती रात अस्पातल से सूचना मिली थी की लड़की ने फांसी लगाकर खुदकुशी की है। जिसके बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों से पूछताछ की। शव का पंचनामा बनाया और पीएम के लिए रवाना किया। मृतका के रिश्तेदारों ने खुदकुशी का कोई ठोस कारण नहीं बताया था। बाद में पुलिस ने उसके घर पहुंचकर रूम की तलाशी ली। जहां पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला। जिसमें उसने अपनी मर्जी से जान देने, खुदकुशी के बाद में पुलिस द्वारा किसी को परेशान न करने तथा शादी की बात को लेकर मां से अन-बन चलने का जिक्र किया है। पुलिस का अनुमान है कि मां से  नाराजगी के बाद में लड़की ने यह कदम उठाया है। सुसाइड नोट को जब्त कर मामले की जांच की जा रही है। 

– दादी से था ज्यादा लगाव

मृतका की दादी ने पुलिस को बताया कि पोती प्रतिक्षा का उनसे ज्यादा लगाव था। पोती उनके साथ उनके ही रूम में रहती थी। मां से उसका अकसर मनमुटाव रहता था। वहीं पुलिस का कहना है कि अन्य परिजनों के डिटेल बयानों, पीएम रिपोर्ट तथा आगे की जांच के बाद ही खुदकुशी के कारण साफ हो सकेंगे। फिलहाल मामले की सभी एंगल से पड़ताल की जा रही है।