‘ शपथ ग्रहण’ के दिन कांग्रेस को घेरने बीजेपी ने बनाया ये ‘ स्पेशल प्लान’

On-the-day-of-'Oath-taking-ceremony'

भोपाल/ नई दिल्ली।

कांग्रेस के लिए सोमवार का दिन बहुत ही अहम होने वाला है। इस दिन तीनों राज्यों (मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ , राजस्थान) के मुख्यमंत्री शपथ लेने वाले है। इस समारोह में देश की कई जानी मानी हस्तियों और दिग्गज नेताओं के शामिल होने की उम्मीद है। इस दिन कांग्रेस  अपनी शक्ति का प्रदर्शन करेगी। लोकसभा चुनाव को मद्देनजर इस दिन जनता के बीच एकता का संदेश प्रसारित किया जाएगा ।वही दूसरी तरह यह दिन बीजेपी के लिए भी खास होने वाला है। इस दिन बीजेपी राफेल मुद्दे को लेकर कांग्रेस को घेरने जा रही है।खास बात ये है कि जिस समय कमलनाथ मुख्यमंत्री की शपथ ले रहे होंगें उसी समय शिवराज राफेल मुद्दे पर प्रेसवार्ता कर कांग्रेस पर हमला बोल रहे होंगें।

दरअसल, अब तक राफेल मुद्दे पर कांग्रेस के निशाने पर रही बीजेपी ने इसे हथियार बनाकर लोकसभा चुनाव से पहले जनता के बीच भुनाने में जुट गई है।इसके लिए पार्टी ने खास प्लान बनाया है। पार्टी ने फैसला किया है  वह सोमवार को देश के विभिन्न 70 स्थानों पर प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस द्वारा देश की सुरक्षा और सरकार के खिलाफ किए जा रहे षड़यंत्र व साजिश का पर्दाफाश करेगी।बीजेपी इस दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ ‘साजिश रचने’ और देश के डिफेंस सिस्टम पर ‘हमला’ करने को लेकर ‘कांग्रेस को बेनकाब करेगी। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज भी राजधानी भोपाल में प्रेस कांफ्रेंस करेंगें और कांग्रेस पर जमकर हमला बोलेगें। वही दूसरी तरफ कांग्रेस नेता कमलनाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले रहे होंगें।  

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीदी के मामले में मोदी सरकार को क्लीन चिट देते हुए सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया। 3 जजों की पीठ ने कहा कि अरबों डॉलर के राफेल सौदे में निर्णय लेने की प्रक्रिया पर संदेह करने का कोई कारण नहीं है। ऑफसेट साझेदार के मामले पर पीठ ने कहा कि किसी भी निजी फर्म को व्यावसायिक लाभ पहुंचाने का कोई ठोस सबूत नहीं मिला है।