हरदा और डिंडोरी के 44 गांवों के लोगों को मिलेगा जमीन का मालिकाना हक, कृषि मंत्री ने जताया पीएम का आभार

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ग्रामीणों की ओर से आभार जताया, कहा गांवों को अब मिली है सही मायने में आजादी

kamal patel

हरदा/भोपाल। प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ग्रामीण इलाकों (Rural Areas) में भूमि का स्वामित्व देकर देश में एक नया इतिहास रचने जा रहे हैं। पायलट प्रोजेक्ट में शामिल मध्य प्रदेश के हरदा (Harda) और डिंडोरी (Dindori) जिले के 44 गांव के लोगों को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का लाभ मिलेगा।

मंत्री कमल पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सच्चा गांधीवादी बताते हुए राज्य के किसानों की ओर से आभार व्यक्त करते हुए कहा कि गांवों को अब सही मायने में आजादी मिल रही है। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा मध्य प्रदेश में ग्रामीण इलाकों के रहवासियों के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री आवास योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अप्रैल 2020 को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के नाम से देशव्यापी कर दिया, इस योजना में मुख्यमंत्री आवास योजना की तरह ग्रामीणों को उनकी जमीन का मालिकाना हक प्रदान करना शामिल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल 11 अक्टूबर को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से देश भर में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से किसानों को उनकी जमीन का मालिकाना सौंपेंगे।

मध्य प्रदेश के पायलट प्रोजेक्ट मैं शामिल हरदा और डिंडोरी जिले के 44 गांव के ग्रामीणों को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक मिल रहा है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने प्रसन्नता जताते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र सही मायनों में अब आजाद हो रहे हैं, उन्होंने कहा कि जमीन का मालिकाना हक मिल जाने से ग्रामीण अब अपने मकानो का बैंक लोन तथा अन्य कार्यों में उपयोग कर सकेंगे।उन्होंने प्रदेश के ग्रामीणों की ओर से प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आजादी के बाद से देश पर गांधी के नाम से कांग्रेस राज करती रही लेकिन गांधी के सपनों का गांव बनाने और ग्रामीणों को लाभ पहुंचाने का कोई प्रयास नहीं किया। मंत्री कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वास्तविक गांधी वादी नेता है, जमीन का मालिकाना हक मिलने से गांव भी आत्मनिर्भर होंगे और देश का विकास संभव होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here