पांच महीनों में 40 मिलावटखोरों पर रासुका, 100 मामलों में एफआईआर

भोपाल| लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बताया कि प्रदेश में विगत जुलाई माह से शुरू किया गया ‘शुद्ध के लिये युद्ध” अभियान लगातार जारी रहेगा। उन्होंने पिछले 5 माह में की गई कार्यवाहियों की जानकारी देते हुए बताया कि मिलावटी सामान बेचने वाले 40 मिलावटखोरों के विरुद्ध रासुका की कार्यवाही की गई है। खाद्य पदार्थों में मिलावट करने के मामले में 100 से अधिक प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कर मिलावटखोरों के खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित की गई है। इस दौरान मिलावटखोरों पर 4 करोड़ 56 लाख रुपये जुर्माना अधिरोपित किया गया और 24 करोड़ रुपये मूल्य के दूषित मिलावटी सामान की जप्ती की गई।

एक साल में शुरू की जाएंगी 5 नई प्रयोगशालाएँ

मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बताया कि खाद्य सुरक्षा की कार्यवाही को प्रभावी बनाने के लिये आगामी एक साल के भीतर इंदौर, जबलपुर, सागर, उज्जैन और ग्वालियर में प्रयोगशालाएँ शुरू की जाएंगी। ये प्रयोगशालाएँ शुरू होने पर खाद्य पदार्थों की जाँच रिपोर्ट 3 दिन में प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने इन 5 प्रयोगशालाओं के अतिरिक्त 12 नवीन चलित खाद्य प्रयोगशालाएँ शुरू करने का निर्णय लिया है। अभी प्रदेश में 2 चलित प्रयोगशालाएँ संचालित की जा रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here