भाजपा में हार पर ‘रार’, अब वरिष्ठ नेता ने उठाये BJP नेतृत्व पर सवाल

भोपाल| झाबुआ उपचुनाव में मिली करारी हार के बाद भाजपा में घमासान तेज हो गया है| लम्बे समय से चल रही पार्टी के अंदर की खींचतान चुनाव नतीजों के बाद खुलकर सामने आ गई है| विधायक केदारनाथ शुक्ला ने सीधे तौर पर पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह पर हमला बोलते हुए उन्हें हटाने की मांग की है| हालांकि नेताओं के इस असंतोष को देखते हुए हाई कमान एक्शन में आ गया है और केदारनाथ शुक्ला को उनके बयान को लेकर नोटिस थमाया है| लेकिन बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है| अब भाजपा के वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा ने बीजेपी नेतृत्व पर सवाल उठाये हैं, 

पूर्व राज्यसभा सांसद और बीजेपी के सीनियर नेता रघुनंदन शर्मा ने कहा जो लोग जवाबदार है वो जवाबदारी लेना नहीं चाहते पर उनको जवाबदारी लेना चाहिए । अगर कोई जवाबदारी से बचता है तो यह स्वस्थ लक्षण नहीं है| केदारनाथ शुक्ला के बयान पर रघुनंदन शर्मा ने कहा यह उनका अभिमत हो सकता है, लेकिन यह सारी बातें जब बाहर आती हैं तो केदारनाथ शुक्ला मुखर होते हैं उसके पीछे के कारण को खोजना चाहिए| उन्होंने कहा राकेश सिंह हो सुहास भगत हो या शिवराज सिंह चौहान हो, या जो भी जिम्मेदार पदाधिकारी है उनको इसके पीछे कारण क्या है क्या संवाद हीनता तो नहीं है पार्टी में इस बुराई और कमी के पीछे जो कारण है उसका जानना चाहिए।

बीजेपी नेता ने कहा संवादहीनता की स्थिति में ही सारी बातें बाहर निकल कर आती हैं| मजबूत व्यक्ति को अंदर जगह नहीं मिलती तो बाहर बोलता है।  इसलिए अब मिलजुलकर गंभीरता से संवाद हीनता को समाप्त करना चाहिए मैं ऐसा आग्रह करूंगा । उन्होंने कहा संगठन के बारे में संगठन की स्थिति के बारे में वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति के बारे में तथाकथित नेतृत्व को बात करना चाहिए। मैंने विधानसभा के समय भी कहा था यदि भारतीय जनता पार्टी विधानसभा के चुनाव में जीती है इसका सारा श्रेय एक व्यक्ति शिवराज सिंह चौहान को जाता है लेकिन पार्टी सरकार बनाने में विफल रही चुनाव हार गए तो इसकी एकमात्र जवाबदारी शिवराज सिंह चौहान की है ।