शिवराज सिंह चौहान बोले-राजस्व पर हो फोकस, ऐसा काम करें सभी राज्य MP को बधाई दें

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी मंत्री चिंतन कर विभाग की योजनाओं को तेजी से क्रियान्वित करवाएं।आप लोग क्षमता का पूरा उपयोग कर बेहतर परिणाम दे सकते हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सोमवार को कमिश्नर-कलेक्टर (Commissioner-Collector) के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस  के बाद आज मंगलवार को सभी कैबिनेट मंत्रियों (Cabinet Ministers) से चर्चा की। शिवराज ने मंत्रियों से दो टूक कहा कि प्रयास होना चाहिए कि आने वाले एक वर्ष में हम बहुत सी उपलब्धियां अर्जित कर लें और सभी राज्य मध्यप्रदेश को बधाई दें।हम ऐसी स्थिति में आ जाएं कि मध्य प्रदेश अग्रणी स्थिति में आकर एक उदाहरण माना जाए।

यह भी पढ़े… शिवराज सिंह चौहान का बयान- मैं पहले नहीं लगवाउंगा वैक्सीन, कांग्रेस बोली- भरोसा नहीं क्या

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी मंत्री चिंतन कर विभाग की योजनाओं को तेजी से क्रियान्वित करवाएं।आप लोग क्षमता का पूरा उपयोग कर बेहतर परिणाम दे सकते हैं। विकास के विभिन्न क्षेत्रों में श्रेष्ठ परिणाम लाने की अपेक्षा की। रेत उत्खनन के संबंध में लागू की जा रही नई व्यवस्था की भी जानकारी दी, जिससे राजस्व आय (Revenue Income) बढ़ेगी। साथ ही अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगेगा। प्रदेश के नागरिकों के कल्याण के लिए ऐसा कार्य हो कि एक वर्ष बाद मध्य प्रदेश को बधाइयां मिलें। उन्होंने आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश (Aatmanirbhar Madhy Pradesh) के निर्माण के लिए विभाग वार एक्सरसाइज कर अच्छे कार्यों को संपादित करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़े… सिंधिया समर्थक मंत्री की पत्नी को शिवराज सरकार का तोहफा, कांग्रेस ने कसा तंज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बीते 9,10 माह में प्रदेश के विकास, प्रदेश की तस्वीर बदलने के लिए अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। आम जनता से भी सरकार के अनेक कार्यों के प्रति समर्थन प्रतिक्रिया मिली है। माफिया के विरुद्ध की जा रही कार्रवाई और नशे से युवा वर्ग (Youth) को बचाने के ठोस प्रयासों का अच्छा संदेश गया है। जब मार्च के आखिरी सप्ताह में सरकार बनी तब कोरोना (Corona) की बड़ी चुनौती सामने थी। इससे नागरिकों को बचाने का कार्य तत्परता से किया गया। प्रभावी कदम उठाए गए। वायरस के नियंत्रण के साथ ही सबसे पहले मध्य प्रदेश में आत्म निर्भर मध्य प्रदेश का रोड मैप बनाया गया।

आत्म निर्भर मध्यप्रदेश रोड मैप तैयार

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जैसे ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)ने आत्मनिर्भर भारत की बात कही उनके चिंतन की प्रक्रिया शुरू हो गई।  सभी मंत्रियों, अर्थशास्त्रियों, नीति आयोग के पदाधिकारियों और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने विचार मंथन कर मध्य प्रदेश रोड मैप की तैयारी की।  मध्य प्रदेश सबसे पहले यह रोड मैप बनाने में सफल हुआ।अर्थव्यवस्था (Economy), रोजगार (Employment) सुशासन, स्वास्थ्य एवं शिक्षा के मुद्दों पर रोड मैप में विस्तार से कार्य का निर्धारण किया गया है।प्रदेश में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए अच्छी राजस्व वसूली का कार्य कुछ प्रयासों से ही संभव है। इस दिशा में अच्छी उपलब्धि मिल रही है। विशेषकर जीएसटी कलेक्शन में मध्य प्रदेश अन्य राज्यों से आगे है। राजस्व वृद्धि के प्रयास तेज किए जाएं।

 प्रदेश में दो एक्सप्रेस-वे प्रगति पर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की बात हो या ग्रामीण विकास के अंतर्गत स्वयं सहायता समूहों की सक्रियता, मध्यप्रदेश ने कुछ कार्यों में रिकॉर्ड बनाया है। देश में सबसे अधिक गेहूं उपार्जन किए जाने के बाद किसानों के खातों में राशि पहुंचाने का कार्य हुआ। प्रदेश में दो एक्सप्रेस-वे प्रगति पर हैं। भोपाल के ग्लोबल स्किल पार्क से व्यापक पैमाने पर रोजगार की संभावनाओं को साकार किया जाएगा। बफर में सफर शुरू हो चुका है। जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र तत्काल देने की व्यवस्था, किसानों को बिना चक्कर लगाए विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने का कार्य प्रदेश में बखूबी किया जा रहा है। इसे और गति देना है।

कोरोना वैक्सीनेशन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कोरोना वैक्सीनेशन के संबंध में की गई व्यवस्थाओं के बारे में बताया और मंत्री गण से इस कार्य में नेतृत्व एवं सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया।पत्थर बाजी पर प्रतिबंध के लिए कड़ा कानून बनाया जा रहा। धर्म स्वातंत्र्य कानून की प्रशंसा हुई है। अन्य नवाचार भी किए जा रहे हैं। वही बैठक के शुरू होने से पहले सभी मंत्रियों को नववर्ष की बधाई दी और नवचिंतन के साथ नवीन कल्पनाओं को साकार कर मध्य प्रदेश को समृद्ध बनाने के लिए सक्रिय भूमिका निभाने की उम्मीद की।