सोशल मीडिया पर छलका मध्यप्रदेश की महिला IAS अधिकारी का दर्द

अदिति गर्ग (IAS Aditi Garg) ने ट्वीट कर लिखा है कि सरकारी सेवा (Government Service) में छुट्टी और सप्ताहंत के काम करने की परंपरा अस्वस्थ है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) नौकरशाहों पर सख्त रवैया अपनाए हुए है।अफसरों को लगातार सुशासन का पाठ पढ़ा रहे है और लापरवाही पर छुट्टी की जा रही है वही दूसरी तरफ आईएएस अधिकारी (IAS Officer) और इंदौर स्मार्ट सिटी की सीईओ अदिति गर्ग (Indore Smart City CEO Aditi Garg) का दर्द छलका है। उन्होंने ट्वीट कर छुट्टी के दिन काम करने की परंपरा पर सवाल खड़े किए है।

IAS डॉ. मसूद अख्तर का हार्ट अटैक से निधन, कोरोना रिपोर्ट भी आई थी पॉजिटिव

दरअसल, अदिति गर्ग (IAS Aditi Garg) ने ट्वीट कर लिखा है कि सरकारी सेवा (Government Service) में छुट्टी (Holiday) और सप्ताहांत (Weekend) के काम करने की परंपरा अस्वस्थ है। काम को जरुरी, तात्कालिक और बढ़ा-चढ़ाकर स्टॉफ पर काम करने के लिए आवश्यक दबाव बनाया जाता है। अगर हमें काम में क्वालिटि चाहिए तो लोगों के निजी वक्त का आदर करना पड़ेगा। अच्छा काम प्रोफेशनलिज्म (Professionalism) से आता है ना कि काम को मनगढंत तरीके से जरुरी बताकर।अब अदिति का यह ट्वीट चर्चा का विषय बन गया है।हालांकि यह ट्वीट 3 जनवरी का है, लेकिन सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

बता दे कि यह पहला मौका नही है। इसके पहले भी कई आईएएस अधिकारी सोशल मीडिया के माध्यम से अपना दर्द बयां कर चुके है। बीते महिनों ही मध्य प्रदेश के चर्चित आईएएस अधिकारी रमेश एस. थेटे (Ramesh Thete) का दर्द छलका था, उन्होंने अपने रिटायरमेंट (Retirement) के दिन मीडिया पर एक पत्र जारी कर लिखा था कि में उन्होंने कहा कि आईएएस (IAS) होने के बावजूद मुझे कभी कलेक्टर, प्रमुख सचिव पद पर पदोन्नति नहीं दी।अब मैं गुलामी से मुक्त हो गया हूँ।

यह भी पढ़े… युवाओं के रोजगार पर सीएम शिवराज का बड़ा बयान, बनाया ये मास्टर प्लान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here