भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले (Sushant Singh Rajput Suside Case) में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Former Chief Minister Uma Bharti) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने रिया चक्रवर्ती (Riya Chakravarti) का बचाव करते हुए कहा कि जब तक किसी पर आरोप सिद्ध नहीं हो जाता, तब तक किसी को आरोपी सिद्ध नहीं करना चाहिए। उमा भारती ने कहा कि वह नहीं जानती कि रिया चक्रवर्ती कौन है, लेकिन कोई सीबीआई की जांच को प्रभावित नहीं कर सकता।

उमा भारती ने कहा कि इस पूरे मामले में राजनीति न करें, क्षेत्रवाद की राजनीति न करें। इस केस को बिहार वर्सेस महाराष्ट्र न बनाएं क्योंकि इस तरह के मामलों की निष्पक्ष जांच बहुत जरुरी होती है, जबकि हमे किसी भी तरह से किसी महिला की इज्जत को अभी ट्रायल पर नहीं डालना चाहिए। ये हमारे समाज की सभ्यता नहीं है। इसलिए वह मीडिया से भी अपील करती हैं कि इस मामले की सही जानकारी ही लोगों तक पहुंचाए। पूर्व सीएम ने कहा मुझे दुख हुआ सुशांत आत्महत्या की बात सुनकर क्योंकि उन्होंने हमारे देश की कला जगत में अपना योगदान दिया था। लेकिन किसी तरह किसी महिला पर भी इस तरह से आरोप नहीं लगा सकते, जब तक जांच में सभी आरोप सही साबित न हो जाएं।

कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर कहा कि मेरी सलाह तो यह है कि कांग्रेस को अब गांधी की ओर लौटना चाहिए। कांग्रेस का नेतृत्व उस व्यक्ति को देना चाहिए जो सचमुच गांधीवादी सोच का व्यक्ति हो, जो स्वदेशी गांधी हो और उसमें विदेशी का कोई एलिमेंट नहीं हो‌।मेरी कांग्रेस से अपील है कि विदेशी गांधी से मुक्ति पाओ। मैं चाहती हूं कि परिवारवाद से मुक्ति मिले. नेहरू-गांधी परिवार का वर्चस्व अब खत्म है. मैं सोनिया गांधी का सम्मान करती हूं।