अंजान युवती ने युवक के चेहरे पर मुँह में भरा पेट्रोल छिड़क कर लाइटर से लगाई आग

जीआरपी जुटी जांच में, फिलहाल युवक का बयान, युवती को नहीं जानता, पुलिस का अनुमान प्रेम प्रसंग का भी हो सकता है मामला

विदिशा, डेस्क रिपोर्ट। विदिशा जिले के गंजबासौदा में सोमवार की रात विंध्याचल एक्सप्रेस ट्रेन में युवती द्वारा युवक के चेहरे पर एसिड मामले में नया खुलासा हुआ है, खुद घायल युवक ने बताया है की वह युवती को नहीं जानता है, युवक का कहना है  कि उस पर पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की गई है, युवक की माने तो अंजान युवती ने मुंह में पेट्रोल भरकर युवक के चेहरे पर उड़ाते हुए लाइटर से आग लगा दी थी। फिलहाल जीआरपी पुलिस सायबर सेल की मदद से युवक की काल डिटेल रिपोर्ट निकलवा रही है। पुलिस इसे प्रेम प्रसंग का मामला मानकर चल रही है।

यह भी पढ़े.. शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, आमजन की सुरक्षा को ध्यान में रख बनाए जाएंगे नए कानून

घटना सोमवार रात की है गंजबासौदा के पचमा रोड निवासी 30 वर्षीय सचिन ने बताया कि वह विदिशा में निजी कंपनी में काम करता है। सोमवार की शाम को करीब सात बजे वह विंध्याचल एक्सप्रेस से विदिशा से गंजबासौदा के लिए जनरल बोगी में सवार हुए थे। ट्रेन में ज्यादा भीड़ नहीं थी। वे बोगी में तीन यात्रियों के साथ बीच में बैठे थे। उनके सामने एक दोस्त भी बैठा था। दोनों आपस में बातें करते जा रहे थे। रात करीब आठ बजे ट्रेन की रफ्तार गंजबासौदा स्टेशन के पहले आउटर पर जैसे ही धीमी हुई हुई, अचानक एक युवती पीछे के केबिन से निकलकर सामने आई और उसने मुंह में भरा तरल पदार्थ फव्वारे के रूप में चेहरे पर उड़ाया और लाइटर से चेहरे पर आग लगा दी। यह सब इतनी तेजी से हुआ कि वो युवती का चेहरा तक नहीं देख पाए। वे चहरे पर मास्क लगाए हुए थे। आग लगते ही उनका चेहरा झुलसने लगा। उन्होंने जर्किन पहनी थी। उसमें भी आग लग गई।

यह भी पढ़े.. MP School: निजी स्कूलों के लिए बड़ी खबर, 10 फरवरी तक कर सकते है ऑनलाइन आवेदन

घटना से आसपास बैठे यात्री भी बुरी तरह घबरा गए। इनमें से एक यात्री ने तत्काल सचिन के चेहरे पर कम्बल डाला और आग बुझाने का प्रयास किया। आग बुझते तक उनके बाल और चेहरा बुरी तरह जल गया। इसी दौरान किसी यात्री ने चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोक दिया। थोड़ी देर में ही जीआरपी के जवान बोगी में पहुंचे और उसे स्थानीय अस्पताल ले गए, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रैफर कर दिया। हालांकि पुलिस इस मामलें में जांच कर रही है, सचिन के बयान लिए है।