the-month-of-Kamalnath-government

भोपाल।

कमलनाथ सरकार का आज एक माह पूरा हो गया है।आज ही के दिन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ ली थी।इस एक माह में प्रदेश सरकार ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए । इनमें 55  लाख किसानो की कर्ज माफी का फैसला पूरे महिने चर्चा में रहा।हालांकि कई फैसलों पर विवाद हुआ तो कुछ की सराहना भी की गई।  इस बीच 15  सालों बाद विपक्ष की भूमिका निभा रही भाजपा ने जमकर हमले बोले और कई मुद्दों पर सरकार का घेराव किए।बावजूद इसके मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके मंत्रियों ने इसका डटकर सामना किया और अब भी लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए अपने वादों पर फोकस किए हुए है।

हर कदम पर होगी शिवराज सरकार से तुलना

शिवराज सरकार ने बीते 15  सालों में कई महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए प्रदेश का चाहुओर विकास किया। गरीबों, किसानों, आदिवासियों, युवाओं, बुजुर्गों और महिलाओं के लिए कई योजनाएं चलाई।इसके साथ ही मध्यप्रदेश को एक नया मध्यप्रदेश बनाने की ओर अग्रसर किया।अब चुंकी प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है ,ऐसे में बीते पंद्रह साल की भाजपा सरकार से उनकी सीधी तुलना कदम कदम पर होना निश्चित है। नौ बार सासंद रह चुके कमलनाथ राजनीति के मामले मे सबसे अनुभवी मुख्यमंत्री में से एक हैं। लोगों को उनसे ज्यादा उम्मीदे है, ऐसे में आगे का सफर कांग्रेस के लिए कठिन होने वाला है। वादों को भी पूरा करने की चुनौती भी सामने है।वही भाजपा द्वारा बार बार उनकी सरकार को गिराने की कोशिश से भी उन्हें संभालना होगा।यानि काबिल कमलनाथ का पूरा प्रशासनिक और राजनीतिक कौशल एक साथ दांव पर है। 

पहली कैबिनेट बैठक आज

सरकार के एक महीने पूरा होने पर आज गुरुवार कैबिनेट की बैठक बुलाई गई। मंत्रालय में शाम को होने वाली इस बैठक में सीएम एक माह के कार्यों की समीक्षा करेंगे और मंत्रियों से कर्जमाफी की रिपोर्ट लेंगे। बैठक के बाद सीएम कमलनाथ आठ दिन के लिए विदेश दौरे पर स्विट्ज़रलैंड के दावोस जाएंगे। इससे पहले सीएम कर्जमाफी सहित अन्य कामकाजों की समीक्षा करेंगे और कई अहम प्रस्तावों पर भी चर्चा करेंगे। कैबिनेट बैठक में सीएम जय किसान कर्ज माफ़ी योजना के सम्बन्ध में अधिकारियों को निर्देश देंगे। कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ मंत्रियों से चर्चा कर इस योजना के अब तक के आए परिणामों की जानकारी लेंगे।

कई नई योजनाओं को शुरु करेगी सरकार

आने वाले दिनों में कमलनाथ सरकार कई बड़े फैसले ले सकती है। कई योजनाओं और विभागों का गठन कर सकती है। बहुत सारी नयी योजनाओं को सामने लाने की तैयारी में है और पूरी तरह वचनबद्ध भी। निवेश और कृषि के साथ ही रोजगार इसमें सबसे प्रमुख विषय हैं। कई पुरानी योजनाओं को नया स्वरुप दिया जा सकता है। 

एक महिने में लिए ये महत्वपूर्ण फैसले

-55 लाख किसानों के 50 हजार करोड़ के कर्ज माफ् ।

-उद्योगनीति में मध्य प्रदेश के लोगों के लिए 70 प्रतिशत रोजगार देने का

-नियम अनिवार्य करने की घोषणा।

-मंत्रालय में होने वाला वंदेमातरम गान पुलिसबैंड के साथ आयोजित करने का फैसला।

-प्रदेश में पहली बार पुलिसकर्मियों को वीकली ऑफ मिलना शुरू।

-आध्यात्म विभाग बनाने के आदेश जारी।

-कन्यादान योजना की राशि बढ़ाकर 51 हजार रुपए ।

-आशा कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगीयों की प्रोत्साहन राशि में वृद्धि।

-सडक़ में घूमने वाली गौ माता के लिए गौशाला निर्माण।

-शिवराज सरकार की दीनदयाल वनांचल योजना को किया बंद

-मप्र में पहली बार मंत्रियों के बजाय कलेक्टरों द्वारा घोषणा किए जाने का आदेश

-प्रदेश में 24 से 30 दिसंबर तक सुशासन सप्ताह मनाने का दिया आदेश


जो वादे किए है उसे पूरा करेंगें- कृषि मंत्री

 कथन की नही यह वचन की सरकार है। जनता से जो वादे किए प्राथमिकता से उन वादों को पूरा करने का काम कर रहे है। किसानों के कर्ज माफी का दस दिन का वादा पहली ही दिन निभाया था और आगे भी जो वचन किये है जल्द उन्हें पूरा करने पर काम करेंगे।

सचिन यादव, कृषि मंत्री, मप्र