मध्य प्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। विदेश यात्रा करने वाले मध्य प्रदेश के अधिकारियों (MP Government Officers) को बड़ी राहत मिली है।अब अंतर्राष्ट्रीय यात्रा (international travel) करने के पहले कोविशील्ड वैक्सीन (covishield vaccine) की दूसरी डोज अधिकारियों को भी मिलेगी।इस संबंध में संचालक एनएचएम ने कलेक्टर्स को पत्र लिखा है।

यह भी पढ़े.. MP School: मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग ने छात्रों को दी एक और बड़ी राहत

मध्य प्रदेश  संचालक एनएचएम (Vaccination) डॉ. संतोष शुक्ला (Director NHM Dr. Santosh Shukla) ने सभी कलेक्टर्स (Collectors) को भारत शासन (Indian Government) से प्राप्त निर्देशों के अनुक्रम में अंतर्राष्ट्रीय यात्रा करने वाले अधिकारियों को यात्रा पूर्व कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज और प्रमाण-पत्र देने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।इसके अलावा संचालक NHM ने कोविड-19 टीकाकरण के 12 और 14 जुलाई के संबंध में मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी और जिला टीकाकरण अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये हैं।

दरअसल, पूर्व में शैक्षणिक प्रयोजन के लिये विदेश यात्रा करने वाले छात्र (Student), रोजगार (employment) संबंधी प्रयोजन के लिये विदेश यात्रा करने वाले व्यक्ति, टोक्यो ओलंपिक में सम्मिलित होने वाले एथलीट्स, खिलाड़ी, सपोर्ट स्टॉफ को निर्धारित समय अंतराल 84 दिन के पूर्व कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाकर प्रमाण-पत्र देने के निर्देश दिए गए थे। नवीन निर्देशों के अनुसार भारत सरकार के अधिकारियों को विदेशों में अधिकारिक प्रतिबद्धताओं में भाग लेने के लिये जाने वाले अधिकारियों को सम्मिलित किया गया।

यह भी पढ़े.. PMMVY: केंद्र की इस योजना में MP पूरे देश में अव्वल, जानें कैसे उठा सकते है लाभ

इसके अलावा संचालक NHM ने कोविड-19 टीकाकरण के 12 और 14 जुलाई के संबंध में मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी और जिला टीकाकरण अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये हैं। जिन जिलों के पास 12 जुलाई को वैक्सीन शेष रहेगी, वह तदनुसार सत्र आयोजित करें। अन्य जिले गर्भवती माताओं के कोविड टीकाकरण के लिए भारत शासन से प्राप्त आपरेशनल गाईडलाइन का प्रशिक्षण 12 और 14 जुलाई के बीच आयोजित करें। BMO, BPM, BCM, BE, CDPO, ICDS को प्रशिक्षण दिया जाये। कोल्ड चेन उपकरणों और वैक्सीन वाहन का मेंटेनेंस का कार्य भी किया जाये।  13 जुलाई 2021 को नियमित टीकाकरण के सत्र आयोजित होंगे।