मजदूरों ने किया लालघाटी मार्ग जाम, मुआवजा देने की मांग, समझाइश के बाद खुला मार्ग

भोपाल, रवि नाथानी। राजधानी भोपाल का व्यस्त्तम मार्ग लालघाटी मार्ग पर रेलवे की जमीन पर सालों से कब्जा कर बैठे लगभग 10 झुग्गी वासियो ने मुआवजे के नाम पर रोड़ जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलते ही स्थानिय थाने की पुलिस और रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

यह भी पढ़ें… चीन में कोरोना के नए वायरस मिलने से विश्वभर में मचा हड़कंप, WHO ने जारी किया अलर्ट

शुक्रवार को भोपाल से एयरपोर्ट की तरफ वीवीआईपी मार्ग जहां से प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर केन्द्रीय मंत्री के वाहनों की आवाजाही होती है, उस मार्ग को मजदूरों ने जाम कर दिया। लालघाटी पर स्थित मनुभन टेकरी के सामने बने ब्रिज पर मजदूरों ने काफी देर तक खड़े रहे और मुआवजा मांगने लगे। मजदूरों के रोड पर धरना देने से ब्रिज पर गाडिय़ों का लंबा जाम लग गया और लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस मार्ग पर रेलवे की जमीन पर इन्ही मजदूरों ने कब्जा कर दिया था, जिन झुग्गियों को रेलवे ने हटाने की कार्रवाही लगभग तीन दिन पहले की थी,उसी के चलते मजदूरों ने शुक्रवार को सडक़ पर अपना आक्रोश दिखाया। प्रदर्शन कर रहे मौजूद झुग्गी वासियों ने बताया कि मजदूरों की झुग्गियां हटाने से पहले रेलवे ने मजदूरों को मुआवजा दिए जाने का आश्वासन दिया था,लेकिन आज तक आश्वासन के भरोसे ही झुग्गीवासी चल रहे है। मुआवजा नहीं मिलने पर मजदूरों ने ब्रिज पर बैठकर अपनी नाराजगी दर्ज करवा दी। इधर जाम की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची स्थानीय कोहिफिजा थाने की पुलिस रोड जाम कर के बैठे गुस्साए मजदूरों को समझाइश दी और कुछ ही देर बाद मार्ग को क्लियर कराया।