मप्र के इन जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना, चल सकती हैं तेज हवाएं

भोपाल| दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon) ने गुरुवार को महाराष्‍ट्र में दस्‍तक दे दी। राज्‍य के तटीय इलाकों समेत कुछ दूसरे क्षेत्रों में झमाझम बारिश दर्ज की गई है। वहीं मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मानसून जून के तीसरे सप्ताह में पहुँचने की संभावना जताई जा रही है| प्रदेश में पूरी तरह से मानसून के सक्रिय होने में कुछ समय है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में भोपाल (Bhopal) इंदौर (Indore) होशंगाबाद (Hoshangabad) उज्जैन (Ujjain) समेत कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश और तेज हवा चल सकती है, वहीं बिजली गिरने की संभावना है|

अभी तक मानसून अपने समय पर चल रहा है। माह के अंत तक यह पूरे प्रदेश में सक्रिय हो सकता है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) की मानें तो दक्षिण-पश्चिम मॉनसून (Monsoon) तमिलनाडु, रायलसीमा के कुछ हिस्सों, आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों, पूरी दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और पूर्वोत्तर भारत के कुछ इलाकों में आगे बढ़ चुका है। बंगाल की खाड़ी में बदलाव का असर मध्य प्रदेश में भी दिखेगा। बीते 24 घंटे की बात करें तो रायसेन के उदयपुरा में सबसे ज्यादा 57 मिमी बारिश दर्ज की गई। बड़वानी में 54 मिमी, रातलाम में 49 और नीमच में 42 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई। वहीं कई जिलों में तेज आंधी चलने के साथ बारिश हुई है|

इन जिलों में हो सकती है बारिश
प्रदेश में अगले 24 घंटे में भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, रीवा, शहडोल, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के जिलों में तथा छतरपुर, सागर दमोह, जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट एवं मंडला जिले में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है| वहीं भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के जिलों में तथा सागर, डिंडोरी, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट एवं मंडला में गरज चमक के साथ बिजली चमकने/ गिरने की संभावना तथा अल्पकालिक तेज हवा चल सकती है| जिन जिलों में अभी बारिश हुई है वही पूरी तरह से प्री-मानसून एक्टिविटी है। 11 जून के बाद एक बार फिर मानसून के आने का आकलन किया गया है। अब बारिश होने से तय हो पाएगा कि प्रदेश में मानसून कब दस्तक देगा|

मप्र के इन जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना, चल सकती हैं तेज हवाएं