प्रदेश की यूनिवर्सिटी शुरू नहीं कर सकेंगे नया कोर्स, यूजीसी से लेना होगी अनुमति

भोपाल। मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालय अपने स्तर पर अब कोई भी नया डिग्री कोर्स नहीं शुरू कर पाएंगे। दरअसल विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानि यूजीसी ने प्रदेश सहित देशभर के सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए हैं कि कोई भी यूनिवर्सिटी अपने स्तर पर कोई डिग्री कोर्स शुरू नहीं करेगी। कोई भी नया कोर्स अगर शुरू करना है तो 6 महीने पहले यूजीसी को बताना होगा और साथ में प्रस्ताव भेजना पड़ेगा। जब तक उस कोर्स पर यूजीसी की तरफ से सहमति पत्र नहीं आ जाता है तब तक कोर्स शुरू नहीं कर पाएंगे विश्वविद्यालय।

गौरतलब है कि बीते कुछ सालो में देखा गया है कि देश की बहुत से विवि छात्रों को गलत डिग्री देकर मुकदमे और बहुत सी कानूनी परेशानियां पैदा कर रहे हैं। जिस वजह से यूजीसी को दिक्कतों का सामना करना पड रहा है क्योंकि बहुत बार देखा गया है कि विवि छात्रों को डिग्री देने के मामले में यूजीसी के तय मापदंड और नियमों का पालन नहीं करते हैं…जिसका खामियाजा बाद में भुगतना पड़ता है …इसलिए यूजीसी ने यह कदम उठाया है और साथ ही विवि को कड़े शब्दों मे कहा कि वे निर्धारित नियमों का पालन करें….बता दें कि यूजीसी की समेकित सूची विवि अनुदान आयोग अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त डिग्री कोर्स की सूची यूजीसी की वेबसाइट पर उपलब्ध है।