हादसों से घबराए एमपी में विधायक, फिर गर्माया विधानसभा वास्तुदोष मामला

vastudosh-again-in-madhya-pradesh-vidhansabha

भोपाल। मध्य प्रदेश में 15 वीं विधानसभा के गठन के साथ ही वास्तुदोष का मुद्दा एक बार फिर गर्मा गया है। मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ के कंधे में हेयर लाइन फ्रैक्चर हुआ और उसके कुछ घंटे बाद विधानसभा की डिप्टी स्पीकर हिना कांवरे की फॉलोअप गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया। इस हादसे में उनकी फॉलोअप वाहन में सवार तीन पुलिस कर्मियों सहित चार लोगों की मौत हो गई। एक बार फिर इन हादसों के बाद विधायकों के माथे पर चिंता की लकीरें खीच गई हैं। दबी जुबान में राजनेता इसके लिए वास्तुदोष को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, हालांकि जानकार इससे इत्तेफाक नहीं रखते हैं। गौरतलब है कि मिंटो हॉल के बाद अगस्त 1996 में विधानसभा नए भवन में शिफ्ट हुई थी।

इस हादसे से डरी कांग्रेस ने विधानसभा में वास्तुदोष को दूर करने की बात कही है। बीजेपी नेताओं ने भी कांग्रेस की इस मांग पर हामी भरी है। राजनीतिक दलों को अभी भी डर है कि वास्तुदोष के कारण ही नेताओं के साथ हादसे हो रहे हैं। हालांकि, कुछ का ऐसा मानना नहीं हैं। लेकिन पूर्व में हुए घटनाक्रम को देखें तो ये मिथक हर बार पहले से और ज्यादा पक्का होता जा रहा है। इससे पहले भी कई मौके पर यह चर्चा जोर पकड़ चुकी है| अंदरखाने खूब चर्चा रही लेकिन खुलकर सभी बोलने से बचते रहे|  

चार विधानसभा में इन विधायकों का असमय निधन-

-मिंटो हॉल के बाद अगस्त 1996 में विधानसभा नए भवन में शिफ्ट हुई थी। 

– 11वीं विधानसभा: ओंकार प्रसाद तिवारी, कृष्णपाल सिंह, दरियाब सिंह, मगन सिंह पटेल, रणधीर सिंह, लिखीराम कांवरे, शिवप्रताप सिंह, संयोगिता देवी, वेस्ता पटेल व लालसिंह पटेल। 

– 12 वीं विधानसभा: किशोरीलाल वर्मा, दिलीप भटेरे, प्रकाश सोनकर, अमरसिंह कोठार, लवकेश सिंह, लक्ष्मण सिंह गौड़ व सुनील नायक।

13 वीं विधानसभा: माखनलाल जाटव, जमुना देवी, रत्नेश सोलोमन, खुमानसिंह शिवाजी, हरिवंश सिंह व ईश्वरदास रोहाणी। 

-14 वीं विधानसभा:प्रभात पांडे, राजेश यादव, तुकोजीराव पवार, सज्जनसिंह उइके, राजेंद्र श्याम दादू,सत्यदेव कटारे, महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा और राम सिंह यादव । 

जानकारों ने बताए हैं उपाय

– जानकार पंडितों का कहना है कि विधानसभा भवन के अंदर चारों कोणों को ठीक करवाने का काम किया जाए। चारों कोणों में दर्पण लगवाकर वास्तुदोष समाप्त किया जा सकता है। 

-विधानसभा भवन की चारों दिशाओं में अभिमंत्रित वास्तुदोष निवारक यंत्र विधि विधान से स्थापित करवाकर भी वास्तुदोष समाप्त किया जा सकता है। 

-विधानसभा भवन में वास्तु मंत्र के पांच लाख जाप करवाकर विधिवत वास्तुदोष शां‍ति पूजा अनुष्ठान करवाने से वास्तुदोष निवारण होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here