हमने कांग्रेस विधायकों से कहा है ऐसा कुछ ना करे कि कमलनाथ जी तनाव में आ जाए

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शहर और पूरे प्रदेश में कोरोना संक्रमण बड़ी तेजी से बढ रहा है। राजधानी में कोरोना संक्रमण की गति पूरे प्रदेश के मुकाबले सबसे ज्यादा है, जिसको लेकर शिक्षा चिकित्सा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि केवल मप्र में ही नही बल्कि पूरे देश मे कोरोना वायरस बढी तेज़ी से बढ़ रहा है। हम हर रोज कोरोना की समीक्षा कर रहे हैं.।हर जिले के लिए स्ट्रेटिजी बनाई गयी है।  इतना ही नहीं भोपाल में आयुष्मान स्कीम में रजिस्टर्ड हॉस्पिटलों में भी कोरोना का इलाज शुरू कर दिया गया है और प्रदेश में भी आयुष्मान से रजिस्टर्ड हॉस्पिटल में कोरोना का इलाज हो ये व्यवस्था भी जल्दी शुरू हो जाएगी।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के 35 दिन बाद खुद के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनाने के बयान पर सारंग ने कहा कि अभी तो कांग्रेस पहले अपने विधायकों को समेट लें। हर हफ्ते कांग्रेस से लोग बीजेपी में आ रहे हैं,  हम उन्हे मना कर रहे हैं कि ऐसा कुछ मत करो जिससे कमलनाथ जी को कोरोना के संकट में तनाव हो जाए, जो स्थिति है अभी उसमें काग्रेस की हालत यह ना हो जाए कहीं कि विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के वोटिंग के लिए कांग्रेस के पास पर्याप्त विधायक ही न बचें।

आयुष्मान से जुडे अस्पतालों में भी होगा कोरोना का इलाज
प्रदेश में कोरोना का संक्रमण राफेल की गति से आगे बढ रहा है।फिलहाल प्रदेश में एक्टिव मरीजो की संख्या 18992 हो गई है, ऐसे में प्रदेश के कोविड अस्पतालों में बिस्तरों की कमी होने लगी है।इस कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने इंतजाम शुरू कर दिए हैं।स्वास्थ्य संचालनालय ने आदेश जारी कर प्रदेश में आयुष्मान योजना के तहत पंजीकृत 170 अस्पतालों को कोरोना मरीजों का इलाज करने की परमीशन दे दी है।इन अस्पतालों में 20% बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखे जाएंगे। आयुष्मान स्कीम से जुडे 59 अस्पताल भोपाल के हैं। यानी अब कोई भी आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना पॉजिटिव होता है तो वो इन अस्पतालों में जाकर इलाज करा सकता है और हॉस्पिटल इलाज करने से मना नहीं कर सकता ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here