BJP का बिल्ला अपनी जेब मे रखकर काम किया है, तो ट्रांसफर क्यों नही होंगे : कमलनाथ

What-did-Kamal-Nath-say-on-transfer-of-officers

भोपाल।

विपक्ष द्वारा बार बार तबादलों को लेकर सवाल उठाने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़ा बयान दिया है। कमलनाथ का कहना है कि भाजपा का बिल्ला लेकर जेब में चलेंगे तो क्या पुरस्कार मिलेगा, तबादला नहीं होगा। उन्होंने साफ कर दिया अभी तो प्रदेश में और तबादले होंगे।यह बात आज कमलनाथ ने जनता को 70 दिनों का रिपोर्ट कार्ड सौंपने के दौरान कही। इसमें किसानों को दिया गया कर्ज माफी का वचन सबसे अहम है। सरकार ने अपने रिपोर्ट कार्ड में इसे सबसे ऊपर रखा है।

दरअसल,  आज गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंत्रालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार का 70 दिनों का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस दौरान उन्होंने मीडिया को सम्बोधित किया और बताया कि ७० दिनों में सरकार ने ८३ वादे पूरे किए है।सीएम कमलनाथ ने कहा हमें बीजेपी से विरासत में जो मध्य प्रदेश मिला वो अपराध, रेप और किसान आत्महत्या के मामले में नंबर 1 था, ऐसे हालात में हमनें इतने कम समय में अपनी प्राथमिकता पूरी कर काम शुरू किया।हम किसी को टारगेट नहीं करेंगे, पिछली सरकारी में जो गैर कानूनी काम हुए, उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। वही मीडिया द्वारा  तबादलों को लेकर उठ रहे सवालों को पूछे गए पश्न के जवाब में कमलनाथ ने कहा कि 15 सालों के भाजपा शासन में कई अधिकारी भाजपा का बिल्ला जेब मे रखकर बैठे थे। उन्हें तो हटाना ही था। इसलिए तबादले किये गए और जरूरत पड़ी तो और भी तबादले करेंगे।नई सरकार बनने पर ट्रांसफर तो होते ही है और आगे इससे भी ज्यादा ट्रांसफर होंगे। भाजपा का बिल्ला लेकर जेब में चलेंगे तो क्या पुरस्कार मिलेगा, तबादला नहीं होगा। उन्होंने साफ कर दिया अभी तो प्रदेश में और तबादले होंगे।

गौरतलब है कि सत्ता में आने के बाद कमलनाथ सरकार तबादलों को लेकर चर्चाओं में बनी हुई है। आए दिन अधिकारियों के तबादले किए जा रहे है। दो महिने में सैकड़ों अधिकारियों के तबादले हो चुके है। हैरानी की बात तो ये है कि एक ही अधिकारी के चार-चार बार तबादले किए गए है। विपक्ष द्वारा सड़क से लेकर सदन तक सरकार का घेराव किया गया है। विपक्ष ने तो इसे तबादला उद्योग तक करार दे दिया है। भोपाल से लेकर दिल्ली तक और सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक सरकार तबादलों को लेकर सुर्खियों में बनी हुई है। यहां तक सत्ता पक्ष के विधायक-मंत्री भी इस पर सवाल उठाने लगे है। सरकार पर दागियों को मलाईदार पोस्टिंग देने के आरोप तक लगे है, बावजूद इसके सरकार की तबादला एक्सप्रेस चल रही है और आगे भी चलने वाली है।अपने बयान में खुद मुख्यमंत्री ने इस बात को साफ कर दिया है।