देश में पहली बार यहाँ बनेंगे “ब्लैक फंगस” यूनिट, शुरुआत 10 – 10 बेड से होगी

इन यूनिटों का उद्देश्य है कि ब्लैक फंगस (Black Fungus)  के मरीजों को तत्काल  इलाज एवं उपचार दिया जा सके।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना महामारी के बीच आई  म्यूकोरमाइकोसिस यानि ब्लैक फंगस (Black Fungus) बीमारी से निपटने के लिए भी सरकार ने इंतजाम शुरू कर दिए हैं। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Vishvas Kailash Sarang) ने कोरोना महामारी में आई पोस्ट कोविड कॉम्प्लिकेशन म्यूकोरमाइकोसिस, ब्लैक फंगस (Black Fungus) से निपटने के विषय विशेषज्ञों से विचार विमर्श किया। मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Vishvas Kailash Sarang) के मुताबिक ब्लैक फंगस से निपटने के लिए सरकार प्लान बना रही है।  देश में पहली बार मध्यप्रदेश में ब्लैक फंगस यूनिट (Black Fungus Unit) बनाई जा रही हैं।  जिसकी शुरुआत भोपाल और जबलपुर से होगी। शुरुआत में यहाँ 10- 10 बेड ब्लैक फंगस (Black Fungus)  के मरीजों के लिए उपलब्ध कराये जाएंगे।

गांधी मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस म्यूकोरमाइकोसिस (Black Fungus) बीमारी के संबंध चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग की मौजूदगी में चिकित्सकीय ज्ञान, रोकथाम किये जाने के बिन्दु, उपचार की गाइडलाइन, मरीजों का लक्षणों अनुसार प्रबंधन तथा लोगों में बीमारी के संबंध में जागरूकता एवं तथ्यात्मक ज्ञान के संबंध में भोपाल और जबलपुर मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ विभिन्न चिकित्सा आयामों पर विस्तृत चर्चा की गई। इसके लिए विशेष रूप से अमेरिका के संक्रमक बीमारी के विशेषज्ञ डॉ. मनोज जैन का चिकित्सकीय तकनीकी सहयोग भी प्राप्त किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – कोरोना से निराश्रित बच्चों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

अमेरिका के डॉ. जैन द्वारा प्रेजेन्टेशन के माध्यम से इस बीमारी के सूक्ष्म पहलूओं और तथ्यों का प्रस्तुतिकरण किया गया। साथ ही उपस्थित नाक-कान-गला विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, डायबिटॉलाजिस्ट, न्यूरो सर्जन एवं मेडिसिन विशेषज्ञों के साथ ऑनलाइन पेनल डिस्कशन किया गया। प्रदेश स्तर पर कोविड ट्रीटमेन्ट प्रोटोकॉल मे स्टेरॉयड एवं एन्टीबायोटिक के रेशनल उपयोग तथा अनियंत्रित डाइबिटीज के मरीजों के उपचार के दौरान ब्लड शुगर लेवल की सघन मॉनिटरिंग तथा सेकेण्डरी/हॉस्पिटल एक्वायरड इन्फेक्शन को सीमित करने के संबंध में प्रोटोकॉल निर्धारित करने के लिये विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की गई।

देश में पहली बार यहाँ बनेंगे "ब्लैक फंगस" यूनिट, शुरुआत 10 - 10 बेड से होगी

देश में गांधी मेडिकल कॉलेज भोपाल एवं जबलपुर मेडिकल कॉलेज में 10-10 बेड के ब्लैक फंगस, म्यूकोरमाइकोसिस (Black Fungus) यूनिट स्थापित किये जा रहे हैं। इन यूनिटों में ब्लैक फंगस के मरीजों का उपचार एवं ऑपरेशन जैसी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। कोविड पॉजिटिव एवं नेगेटिव दोनों मरीजों में ब्लैक फंगस (Black Fungus)  इन्फेक्शन होने पर अलग अलग ऑपरेशन थियेटर मरीजों के उपचार के लिये तैयार किये जायेंगे। इन यूनिटों का उद्देश्य है कि ब्लैक फंगस (Black Fungus)  के मरीजों को तत्काल  इलाज एवं उपचार दिया जा सके। ब्लैक फंगस (Black Fungus) मरीजों की बढ़ती संख्या से आमजन में बढ़ रही चिंता के लिये सरकार एवं चिकित्सक मिलकर उपयुक्त उपचार व्यवस्थाओं से उनका भरोसा मजबूत करने के लिये इस प्रयास के माध्यम से कार्यवाही कर रहे हैं।  विचार-विमर्श में अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा निशांत वरवड़े, संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत सहित विभिन्न विधाओं के चिकित्सकीय विशेषज्ञ एक साथ जुड़े।

ये भी पढ़ें – अनुपम खेर की सरकार को खरी खरी, इमेज बचाने से ज्यादा जरूरी है लोगों की जान बचाना