Chhatarpur News : अंधे कत्ल का खुलासा, दामाद ने की थी ससुर की हत्या, ये थी वजह

Atul Saxena
Published on -

Chhatarpur News :  28 जुलाई को शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र में एक अधेड़ व्य​क्ति की अज्ञात लोगों द्वारा निर्मम हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने दो दिन की गहन छानबीन के बाद सोमवार को घटना का खुलासा कर दिया है। बताया गया है कि अधेड़ की हत्या उसके ही दामाद ने अपने सा​थियों के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने दामाद सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है तथा दो फरार आरोपियों की तलाश अभी जारी है।

यह है पूरा मामला

तीन दिन पहले 28 जुलाई की शाम को रीजेंसी होटल के पीछे टिकरया टावर के पास रहने वाले पूर्व बस कंडेक्टर जगदीश प्रसाद गौतम पुत्र भरत प्रसाद गौतम उम्र 52 वर्ष की रक्तरंजित लाश उसी के घर के बाहर पड़ी मिली थी। सूचना मिलने पर पुलिस के तमाम वरिष्ठ अ​धिकारी मौके पर पहुंचे थे और साक्ष्य एकत्रित कर तत्काल मामले की जांच शुरू की गई थी। मृतक के पुत्र निशांत गौतम की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध धारा 302 का अपराध पंजीबद्ध किया था।

शक की सुई दामाद पर घूमी, अपराध स्वीकार किया 

पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने मामले की विवेचना हेतु एएसपी विक्रम सिंह, सीएसपी लोकेन्द्र सिंह और कोतवाली थाना प्रभारी अरविंद दांगी के नेतृत्व में एक टीम गठित की जिसने साक्ष्य इकट्ठे कर मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया। विवेचना के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि मृतक की हत्या उसके दामाद के द्वारा की गई है। सूचना की तस्दीक हेतु पुलिस ने मृतक के दामाद को हिरासत में लिया और पूछताछ में उसने अपने सा​थियों के साथ मिलकर हत्या करना कबूल कर लिया।

पत्नी को गायब करने का संदेह था, इसलिए कर दी हत्या

पुलिस की पूछताछ में आरोपी दामाद मनीष उर्फ भोलू विश्वकर्मा निवासी सौंरा पहाड़ी ने बताया कि वर्ष 2018 में उसने मृतक की पुत्री से प्रेम विवाह किया था। 23 जून से उसकी पत्नी और बेटी गायब है, जिसकी रिपोर्ट उसने कोतवाली थाने में की थी। आरोपी दामाद को संदेह था कि उसकी पत्नी और बच्ची को उसके ससुर द्वारा कहीं भेजा गया है। इसी के चलते 28 जुलाई को आरोपी धारदार ह​थियार लेकर अपने दो साथी अमन गुप्ता और वीरू अहिरवार के साथ जगदीश गौतम के पास पहुंचा और विवाद के बाद उसने जगदीश प्रसाद गौतम की हत्या कर दी।

पुलिस ने मददगार रिश्तेदार को भी पकड़ा 

हत्या के बाद तीनों आरोपी हरिश्याम कालोनी नौगांव रोड पर रहने वाले आरोपी अमन के चाचा सुनील गुप्ता के घर गए जहां उन्होंने हत्या में प्रयुक्त ह​थियार छिपाए और कपड़े बदलकर यहां से फरार हो गए। पुलिस ने आरोपी दामाद मनीष के अलावा सुनील गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त की गई धारदार चाकू, एक बाईक और रक्तरंजित कपड़े भी बरामद कर लिए हैं। आरोपी अमन और वीरू अब भी फरार हैं, जिनकी तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है।

इस टीम की रही सराहनीय भूमिका, मिलेगा कैश रिवार्ड 

उक्त कार्यवाही में कोतवाली थाना प्रभारी निरीक्षक अरविंद सिंह दांगी, उपनिरीक्षक एनके सोलंकी, छत्रपाल सिंह वैस, रवि उपाध्याय, हरिराम उपाध्याय, सहायक उपनिरीक्षक धर्मेन्द्र त्रिपाठी, प्रधान आरक्षक जुगल किशोर, राजेश पाठक, पवन कुमार, आरक्षक रूपेश कबीर, सतेन्द्र यादव, प्रशांत यादव, विकाश खरे, अनिल मांझी, सायबर सेल प्रभारी उपनिरीक्षक सिद्धार्थ शर्मा, प्रधान आरक्षक संदीप सिंह तोमर, किशोर रैकवार, आरक्षक धर्मराज पटेल, विजय सिंह, राहुल भदौरिया के अलावा सायबर सेल छतरपुर एवं प्रधान आरक्षक चालक अशोक तिवारी की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने उक्त टीम को 10 हजार रुपए का इनाम (कैश रिवार्ड)  देने की घोषणा की है।

छतरपुर से सुबोध त्रिपाठी की रिपोर्ट


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News