बकस्वाहा जंगल को बचाने के लिए विधायक ने प्रधानमंत्री और सीएम को लिखा पत्र

छतरपुर जिले के बकस्वाहा के जंगल की कटाई को रोकने के लिए बिजावर विधायक राजेश शुक्ला ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

Mla bijawar

छतरपुर, संजय अवस्थी। जिले के बकस्वाहा (Bakswaha) विकासखण्ड में जंगल की जमीन से हीरा निकालने के लिए यहां बड़ी संख्या में वृक्षों को काटे जाने की तैयारी की जा रही है। जिसे रोकने के लिए बिजावर विधायक राजेश शुक्ला बबलू (Bijawar MLA Rajesh Shukla) ने प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi), केन्द्रीय पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावेड़कर (Central environment Minister Prakash Javedkar), मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) सहित सागर संभाग के कमिश्नर और छतरपुर कलेक्टर को पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ें:-शिवपुरी : दुल्हारा आदिवासी बस्ती में कोरोना की जांच करने गए प्रशासन पर ग्रामीणों ने किया हमला

विधायक राजेश शुक्ला बबलू ने बताया कि छतरपुर जिले का बकस्वाहा जिले के सबसे पिछड़े विकासखण्ड में आता है। यहां के लोग वन उपज से अपनी जीविका चलाते हैं और अब वन समाप्त करने की तैयारी की जा रही है, जिससे पर्यावरण को बड़ी क्षति होने के साथ-साथ स्थानीय लोगों के सामने भरण-पोषण की समस्या भी खड़ी हो जाएगी जो कि चिंता का विषय है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आदित्य बिड़ला समूह को हीरा खनन प्रोजेक्ट लगाने के लिए इस विकासखण्ड के वन क्षेत्र में पट्टे पर जमीन दी गई है। वन विभाग द्वारा कराई गई गणना के अनुसार इस भूमि पर तकरीबन 2,15, 875 पेड़ लगे हुए है, जिन्हें प्रोजेक्ट लगाने हेतु काटा जाना प्रस्तावित है।

यह भी पढ़ें:-छतरपुर : मामूली विवाद में दो पक्षों के बीच जमकर चले लाठी-डंडे, देखें वीडियो

विधायक राजेश शुक्ला बबलू ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 की विभीषिका के चलते जहां लोग अपनों को बचाने के लिए सोना, चांदी और हीरों को बेचकर ऑक्सीजन खरीद रहे हैं, वहीं इस प्रोजेक्ट के तहत ऑक्सीजन उगलते वृक्षों की बलि देने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि पत्र में जंगल के विनाश की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए केन्द्र और राज्य सरकार से अपने निर्णय पर पुन: विचार करने का अग्राह किया गया है।