पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव व भाजपा नेता में हुआ विवाद, नोकझोंक के साथ हुई झूमाझटकी, विडियो वायरल

विवाद इतना बढ़ गया पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष के कपड़े फटे। दरअसल उचित मूल्य की दुकान पर राशन वितरण को लेकर हुआ था विवाद।

दतिया, सत्येन्द्र रावत। दतिया जिले में कांग्रेस और भाजपा पार्टी की राजनीति अब मारपीट और झूमाझटकी में बदलने लगी है। जिसका ताजा उदाहरण है दतिया जिले में पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष एवं भाजपा नेता के बीच हुआ विवाद सामने आया है। दोनों नेताओं में जमकर विवाद होने के साथ झूमाझटकी हुई और थप्पड़ भी चले।

बड़ी खबर- सागर से भाजपा सांसद की अचानक तबियत बिगड़ी, अस्पताल में कराया भर्ती

दरअसल दोनों नेताओं में उचित मूल्य की दुकान पर राशन वितरण को लेकर विवाद हुआ था। मामला दतिया शहर के वार्ड नंबर 7 का है। जहां पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष उचित मूल्य की दुकान पर राशन वितरण की समस्या को लेकर पहुंचे थे। जहां उन्हें राशन वितरण नहीं किए जाने की समस्या मिल रही थी। जब वह कंट्रोल पर पहुंचे तो कंट्रोल संचालक से राशन वितरण न करने पर कहासुनी हुई। इस दौरान कंट्रोल संचालक से विवाद होता देख भाजपा नेता पंकज शुक्ला दुकान पर पहुंचे और देखते ही देखते भाजपा नेता और नाहर सिंह यादव के बीच कहासुनी के साथ झूमाझटकी और थप्पड़ बाजी शुरू हो गई। जिसको लेकर स्थानीय नागरिकों ने बीच-बचाव कराया।

BJP Twitter Poll: कमलनाथ की जगह नया प्रदेशाध्यक्ष कौन? इस नेता को मिले सबसे ज्यादा वोट

यह घटना धीरे धीरे सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंचने लगी और शहर में इसकी आम चर्चा होने लगी। जिस पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष नाहर सिंह यादव ने भाजपा नेता पंकज शुक्ला पर कंट्रोल संचालन होने पर लोगों को प्रधानमंत्री का दो माह का निशुल्क राशन वितरण नहीं करने का आरोप लगाते हुए विवाद करना बताया। वहीं पंकज शुक्ला के पुत्र जोली शुक्ला का कहना है कि मोहल्ले में वार्ड वासियों को राशन की दुकान खोल कर समय-समय पर राशन वितरण किया जा रहा है और प्रधानमंत्री द्वारा निशुल्क प्रदान किया गया राशन भी वितरण किया गया। जो आरोप कांग्रेस जिलाध्यक्ष लगा रहे हैं। वो राजनीति से प्रेरित हैं और वह वार्ड में कंट्रोल का संचालन बंद करना चाहते हैं और समस्या उत्पन्न कर अपनी राजनीति चमकाना चाहते हैं। जिससे आगामी नगर पालिका चुनाव में जनता के हितेषी बन सकें।