कांग्रेस ने चुनाव आयोग से की कैलाश विजयवर्गीय की शिकायत, चुनाव प्रचार में प्रतिबंधित करने की मांग की

कैलाश विजयवर्गीय

भोपाल। मप्र कांग्रेस नेताओं ने चुनाव आयोग को भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ शिकायत की है। साथ ही उन्हें आगामी चुनाव में प्रचार प्रसार के लिए उन पर प्रतिबंध लगाने और महू विधानसभा का निर्वाचन रद्द किये जाने की मांग की है। कांग्रेस ने यह शिकायत एक समाचार पत्र को कैलाश विजयर्गीय द्वारा दिए गए इंटरव्यू को आधार बनाकर की गई है। जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘प्रदेश के धार जिले की महू विधानसभा की वर्ष 2018 की भाजपा प्रत्याशी उषा ठाकुर के चुनाव के दौरान उन्होंने “अच्छा खर्च ” किया है, वे रात को 2-2 बजे महू क्षेत्र में जाते थे और सेटिंग करके आते थे। उन्हें पार्टी ने महू विधानसभा चुनाव जिताने की जिम्मेदारी सौंपी थी और कहा था कि हर हाल में हमे महू जीतना है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा और मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने प्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीरा राणा को इस संबंध में एक शिकायत सौंपी है। सलूजा ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को सौंपे पत्र में यह भी बताया कि कैलाश विजयवर्गीय ने उक्त स्वीकारोति करते हुए यह कहा है कि उन्होंने भाजपा प्रत्याशी उषा ठाकुर को अच्छे खर्च की जानकारी नहीं दी है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वे रात को 2-2 बजे महू क्षेत्र में जाते थे और सेटिंग करके आते थे, जब चुनाव प्रचार रात्रि 10 बजे समाप्त हो जाता है, मतदाता रात्रि में सो जाता है, ऐसे में विजयवर्गीय ने रात्रि 2 बजे वहां जाकर कौन सी सेटिंग की है, यह सार्वजनिक हो?

सलूजा ने चुनाव आयोग से मांग की है कि भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय द्वारा दिये गये इंटरव्यू में स्वीकारोक्ति के बाद महू विधानसभा का निर्वाचन तत्काल रद्द किया जाए और उन्हें आगामी चुनाव में प्रचार के लिए प्रतिबंधित किया जाए। साथ ही उनके द्वारा किये गये “अच्छे खर्च” को महू की भाजपा प्रत्याशी उषा ठाकुर के खर्च में जोड़ा जाए।