पूर्व मंत्री के साथ पुलिस प्रशासन के व्यवहार पर भड़की कांग्रेस, देखिये वीडियो

डिंडोरी, डेस्क रिपोर्ट।  डिंडोरी जिले के प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव (Dr Mohan Yadav) के दौरे पर उस समय अजीब स्थिति पैदा हो स्थानीय विधायक एवं पूर्व मंत्री ओमकार सिंह मरकाम (Omkar Singh Markam) उनके काफिले के सामने आ गए।  कांग्रेस विधायक का कहना था कि प्रभारी मंत्री मेरी विधानसभा में आये हैं और भूमिपूजन कर रहे हैं और मुझे ही  मिलने से रोका जा रहा है।  प्रशासन के मना करने के बाद भी जब विधायक मिलने की जिद पर अड़े रहे तो कलेक्टर के निर्देश पर उन्हें वहां से उठाकर अलग कर दिया गया।  प्रशासन की इस कार्रवाई पर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है।  कांग्रेस ने कहा कि शिवराज जी, डिंडोरी से कांग्रेस विधायक ओंकार सिंह मरकाम कोई आतंकी नहीं हैं, जिस तरह उन्हें प्रभारी मंत्री से नहीं मिलने दिया गया, कलेक्टर के निर्देश पर पुलिस ने बेइज्जत किया, यह सरकार-प्रशासन का तालिबानी चरित्र है।

डिंडोरी जिले के प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव जिले के दौरे पर आय थे उनके कई कार्यक्रम थे। दौरे पर पहुंचने पर भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा प्रभारी मंत्री का स्वागत किया। प्रभारी मंत्री ने जिला मुख्यालय से अमरपुर तक 24 किलोमीटर लम्बी प्रधानमत्री सड़क का भूमिपूजन किया। प्रभारी मंत्री इसके अलावा अन्य कार्यक्रमों में भी शामिल हुए।

ये भी पढ़ें – मध्य प्रदेश में सीएम पद के उम्मीदवार को लेकर दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट

प्रभारी मंत्री मोहन यादव का काफिला जब मंडला मार्ग स्थित रहंगी पहुंचा और उन्होंने यहाँ नर्मदा किनारे मॉडल कॉलेज का लोकार्पण किया तो यहाँ हंगामा हो गया।  स्थानीय कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री ओमकार सिंह मरकाम वहां पहुँच गए और प्रभारी मंत्री से मिलने की जिद करने लगे।  उन्होंने कहा कि प्रभारी मंत्री मेरे क्षेत्र में आये हैं और मुझे मिलने से रोका जा रहा है।

ये भी पढ़ें – हंगामे के साथ शुरू हुआ संसद का मानसून सत्र, पीएम बोले दलित, ओबीसी का मंत्री बनना पचा नहीं

वहां मौजूद प्रशासन और पुलिस ने विधायक को बहुत समझाया लेकिन विधायक जिद पर अड़े रहे उन्होंने कहा मैं विधायक हूँ  और प्रभारी मंत्री से मिलना चाहता हूँ लेकिन प्रशासन ने उन्हें मना कर दिया फिर कलेक्टर ने उन्हें लगभग धकियाते हुए वहां जाने के लिए कहा फिर एडिशनल एसपी , सीएसपी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने विधायक के हाथ और पैर पकड़कर हटा दिया। विधायक ने कहा कलेक्टर साब आप मुझे अपमानित कर रहे हैं मैं विधायक हूँ यहाँ का।इतना कहकर विधायक वहीँ सड़क पर बैठ गए।

ये भी पढ़ें – भोपाल आते समय विधायक की गाड़ी पलटी, विधायक सुरक्षित, ड्राइवर घायल

पूर्व मंत्री के साथ पुलिस प्रशासन के व्यवहार पर भड़की कांग्रेस, देखिये वीडियो

मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं सीधा साधा आदिवासी विधायक हूँ जनता ने मुझे चुना है लेकिन प्रभारी मंत्री से मुझे प्रशासन ने मिलने नहीं दिया।  मैं जनता की बात रखने के लिए गया था , अब मैं क्या कर सकता हूँ नर्मदा मैया से प्रार्थना करूँगा।  पार्टी तक बात पहुँचाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अब पार्टी को जो निर्णय लेने होगा लेगी।

चुने हुए विधायक के साथ पुलिस और प्रशासन के व्यवहार पर कांग्रेस ने एतराज जताया है।  कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए  कहा – मुख्यमंत्री शिवराज जी, डिंडोरी से कांग्रेस विधायक  ओमकार सिंह मरकाम कोई आतंकी नहीं हैं, जिस तरह उन्हें प्रभारी मंत्री से नहीं मिलने दिया गया, कलेक्टर के निर्देश पर पुलिस ने बेइज्जत किया, यह सरकार-प्रशासन का तालिबानी चरित्र है! दुःखद.