सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने गए अफसरों पर बरसे कांग्रेस नेता, हमारी सरकार आएगी तो देख लेंगे

प्रशासन के अधिकारियों के मुताबिक अतिक्रमण से मुक्त कराइ गई सरकारी जमीन की कीमत करीब पांच करोड़ के आसपास होगी

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  लक्ष्मण तलैया हनुमान घाटी पर बने हनुमान मंदिर के पास सरकारी जमीन पर बने एक गैरेज को खाली कराने गई ग्वालियर जिला प्रशासन की टीम के साथ शहर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी जिला अध्यक्ष वीर सिंह तोमर की जमकर बहस हुई।  कांग्रेस नेता अतिक्रमण हटाने का विरोध कर रहे थे उनका था कि 40- 50 साल से जमीन मंदिर के पास है, मंदिर की समिति ने पुजारी की आर्थिक मदद के लिए एक गैरेज किराये पर दे दिया।  कांग्रेस नेता (congress leader) ने आरोप लगाए कि ये सब भाजपा के इशारे पर हो रहा है उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब हमारी सरकार आएगी तो सबको देख लेंगे। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाए कि पूरी कार्रवाई बिना नोटिस दिए की गई है।

ग्वालियर में बुधवार को शिंदे की छावनी लक्ष्मण तलैया हनुमान घाटी पर प्रशासनिक अमले और कांग्रेस नेता वीर सिंह तोमर के बीच जमकर बहस हुई।  प्रशासन के दो एसडीएम प्रदीप सिंह तोमर (sdm pradeep singh tomar) और अनिल बनवरिया (sdm anil banvaria) भारी पुलिस फ़ोर्स के साथ पहुंचे।  वे कार्रवाई शुरू करते उससे पहले ही शहर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष वीर सिंह तोमर पहुँच गए। वे कार्रवाई का विरोध करने लगे।

ये भी पढ़ें – MP By-Election पर फिर लगेगा ग्रहण! कोरोना की संभावित तीसरी लहर बनी वजह, याचिका दायर

दरअसल घाटी पर हनुमान जी का मंदिर है इस मंदिर की समिति में कांग्रेस नेता वीर सिंह तोमर प्रमुख भूमिका में हैं।  मंदिर के पास ही एक नासिर नाम का व्यक्ति गैरिज चलाता है। प्रशासन को शिकायत मिली कि गैरेज सरकारी जमीन पर बना हुआ है तो प्रशासन का अमला उसे खाली कराने पहुँच गया। लेकिन प्रशासन की टीम को देखकर वहां लोग भड़कने लगे।

ये भी पढ़ें – बड़ा हादसा: भूस्खलन से 4 की मौत, 10 को किया गया Rescue, 40 से अधिक लोग अब भी फंसे

एसडीएम प्रदीप सिंह तोमर ने कहा कि यहाँ ग्राम आउ खानाकलां में शासकीय पहाड़ सर्वे क्रमांक 741 की जगह है जिसपर नासिर नामक व्यक्ति ने गैरिज बना रखा है उसे खाली कराया जा रहा है, ये मेन रोड की जमीन है जो बेशकीमती हो चुकी है। हमें शिकायत मिली है कि करीब तीन साल से यहाँ कब्जा कर गैरिज चलाया जा रहा है।  उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि मंदिर अलग है हम तो शासकीय जमीन पर बने गैरिज को खाली करा रहे हैं।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : छात्रों ने जलाये कुलपति और डिप्टी रजिस्ट्रार के पुतले, ये है कारण

उधर प्रशासन की कार्रवाई को कांग्रेस के कार्यकारी जिला अध्यक्ष ने बदले की कार्रवाई बताया। वीर सिंह तोमर ने कहा कि आप चुन चुन कर कांग्रेसियों को निशाना बना रहे हो, हम लोग यहाँ 40- 50 साल से हैं, मंदिर पर भंडारा करते हैं, इस जमीन  पर हमने पैसा खर्ज कर भराव कराया, लेवलिंग कराई, नगर निगम ने भी हमारा  सहयोग किया।  यहाँ दिग्विजय सिंह सहित कई बड़े नेता आते हैं। उन्होंने कहा कि हर साल यहाँ भंडारा होता है हजारों लोग आते हैं, प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी भी आते हैं तब किसी को नहीं दिखा।

कांग्रेस नेता ने  कहा कि ये सब बदले की भावना से किया जा रहा है और भाजपा के इशारे पर किया जा रहा है, मेरे पास पूरे कागज हैं। गैरिज मंदिर के पुजारी को आर्थिक मदद के उद्देश्य से किराये पर दिया है। उन्होंने आरोप लगाए कि प्रशासन ने कार्रवाई से पहले कोई नोटिस भी नहीं दिया। वीरसिंह तोमर ने चेतावनी दी कि आज आप लोग दादागिरी कर लो जब हमारी सरकार आएगी तब देख लूंगा।