विश्व आदिवासी दिवस पर छुट्टी न मिलने को लेकर सदन में हंगामा, कांग्रेस ने कहा सरकार ने आदिवासी समाज का अपमान किया है

आज मध्यप्रदेश की मानसून विधानसभा सत्र के पहले दिन सदन में विपक्षी दल कांग्रेस ने आदिवासी दिवस पर छुट्टी न घोषित होने पर हंगामा किया।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। विश्व आदिवासी दिवस (International tribal day) के मौक पर सार्वजनिक अवकाश न मिलने को लेकर आज मध्यप्रदेश के मानसून सत्र में कांग्रेस (Congress) ने जमकर विरोध और हंगामा किया। दरअसल सदन के पहले दिन की कार्यवाही शुरु होते ही विपक्षी दल कांग्रेस ने आदिवासी दिवस पर छुट्टी न घोषित होने पर हंगामा किया। इसको लेकर कांग्रेस के विधायक प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने भी ढोल बजाकर विश्व आदिवासी दिवस पर सार्वजनिक तौर से अवकाश मिलने की बात कही और कांग्रेस द्वारा विरोध प्रदर्शन को समर्थन दिया।

ये भी देखें- Indore News: बेखौफ लुटेरों ने पुलिस थाने से मात्र 50 कदम की दूरी पर की महिला से लूट !

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा की कांग्रेस हमेशा आदिवासी वर्ग के हितों और उनका हक दिलाने के लिए सदैव संपल्पित है। उनहोंने ट्वीट करते हुए कहा- “आदिवासी वर्ग के सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक हितों की न केवल कांग्रेस संरक्षक रही बल्कि, आदिवासी वर्ग की भलाई के लिये हरसंभव कार्ययोजनाएँ भी कांग्रेस सरकारों के समय ही संचालित की गयी, जिससे उनके विकास की नई इबारत लिखी गयी।“

विश्व आदिवासी दिवस पर सरकारी अवकाश न घोषित करने को लेकर कमलनाथ ने कांग्रेस द्वारा विरोध प्रदर्शन को समर्थन करते हुए कहा कि आज प्रदेश के 2 करोड़ आदिवासियों का अपमान हुआ है। आदिवासी अपने सम्मान का भूखा है। इस मौके पर सरकार को आदिवासियों का सम्मान करना चाहिए लेकिन आज जो सदन में हुआ उसको मैं श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। आज पूरे आदिवासी समाज का अपमान हुआ है। कांग्रेस पार्टी प्रदेश व देश के सभी आदिवासी भाई-बहनों के साथ खड़ी है।

ये भी देखें- Gwalior की ऐतिहासिक धरोहरों का मामला पहुंचा संसद, सांसद विवेक शेजवलकर ने की ये मांग