आचार संहिता लागू होने के बाद भी खुलेआम होटलों-ढाबों पर परोसी जा रही शराब, प्रशासन नहीं कर रहा कार्रवाई

Amit Sengar
Published on -
dabra

Dabra News : मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा तहसील में आलीशान होटलों व भोजनालयों के साथ ही आस-पास स्थित ढाबों पर लंबे समय से खुलेआम लोगों को शराब परोसी जा रही है। वर्तमान में भी पुलिस प्रशासन व जिला प्रशासन इस पर अंकुश नहीं लगा सका है, इससे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लागू आचार संहिता की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।

यह है पूरा मामला

बता दें कि होटल और ढाबों पर बैठकर अवैध तरीके से शराब परोसी जा रही है नगर में होटल और ढाबों के नाम पर अवैध कलारियाँ और अहाते संचालित हो रहे हैं होटल और ढाबों पर मीडिया के कैमरें में कुछ ऐसी तस्वीरें कैद हुई जिनमें ढाबे पर शराब पिलाई जा रही है और पास ही पुलिसकर्मी मौजूद हैं इन तस्वीरों में एक दरोगा जी टेबल पर बैठे देखे जा रहे हैं। ये तस्वीरें कुछ और ही जाहिर कर रही है कि पुलिस की मिलीभगत में यह अवैध शराब नीति चल रही है। इन संचालकों पर कार्यवाही क्यों नहीं होती इसका अंदाजा तस्वीरों से साफ लगाया जा सकता है। वर्तमान में विधानसभा चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लागू होने पर भी इसका प्रभाव अवैध शराब नीति पर नहीं दिख रहा है धड़ल्ले से होटल और ढाबों पर अवैध कलारियां और अहाते चल रहे हैं।

आपको बता दें कि आबकारी और पुलिस विभाग कंजड़ों के पास कच्ची मदिरा पर कार्यवाही कर मीडिया की सुर्खियों में वाहवाही हासिल करने में लगे रहते हैं लेकिन शहरी क्षेत्रों में आबकारी और पुलिस विभाग होटल और ढाबे संचालकों की मिलीभगत से अवैध कलारियां और अहाते चल रहे हैं जिन पर कोई कार्यवाही नहीं होती है।
डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News