पति के अधूरे कामों को पूरा करेंगी नीतू, बनहेरी की सरपंच बनीं विक्रम रावत की पत्नी, हत्या के बाद खाली हुई थी सीट

Gwalior News, Dabra News

Gwalior News, Dabra News :  ग्वालियर जिले के ग्राम बनहेरी के सरपंच पद पर पूर्व सरपंच विक्रम रावत की पत्नी नीतू ने जीत हासिल की है, उन्होंने अपने विरोधी को 166 मतों से शिकस्त दी, अब नीतू अपने पति के अधूरे कामों को पूरा करेंगी, गौरतलब है कि पूर्व सरपंच विक्रम रावत की पिछले साल अक्टूबर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

कहते है महिला कभी हार नहीं मानती उसका संघर्ष हमेशा जारी रहता है और और वो उस चुनौती को स्वीकार भी करती है, ताजा मामला ग्वालियर जिले का है जहाँ एक पत्नी ने पति की हत्या के बाद हार नहीं मानी, पहले आरोपियों को गिरफ्तार करवाने के लिए संघर्ष किया शासन प्रशासन से लड़ी और अब लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत चुनाव में जीत दर्ज कर अपने गांव की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है।

नीतू रावत ने 166 वोटों से जीता सरपंच का उप चुनाव 

हम बात कर रहे हैं पूर्व सरपंच विक्रम रावत की पत्नी नीतू रावत की जिसने उप चुनाव में बनहेरी के सरपंच पद पर जीत हासिल की है, नीतू रावत को कुल 722  वोट मिले और वो सरपंच का चुनाव 166 वोटों से जीत गई , अब नीतू का लक्ष्य पति विक्रम रावत के अधूरे कामों को पूरा करना है।

9 अक्टूबर 2023 को नीतू के पति सरपंच विक्रम रावत की बदमाशों ने की थी हत्या 

आपको बता दें कि पिछले साल 9 अक्टूबर को गांव के ही लोगों ने नीतू के पति और बनहेरी के सरपंच विक्रम रावत की ग्वालियर के कांति नगर में उस समय गोली मारकर सुबह सुबह हत्या कर दी थी जब वे एक केस के सिलसिले में वकील से मिलने गए थे, ये केस विक्रम के चचेरे भाई की हत्या का था और विक्रम उसमें गवाह था उसकी कोर्ट में गवाही होनी शेष थी।

पुलिस ने हत्या के सभी आरोपियों को जेल भेजा, EPFO कमिश्नर को मुंबई से पकड़ा 

मोटरसाइकिल से आये बदमाशों ने नजदीक गोली मारी जिससे विक्रम की मौके पर ही मौत हो गई, पति की हत्या के बाद नीतू ने परिजनों के साथ मोर्चा संभाला और फिर पुलिस पर दबाव बनाया जिसके बाद हत्या में शामिल सभी पांच आरोपियों को पुलिस ने एक एक कर गिरफ्तार कर लिया और षड्यंत्र में मुख्य रूप से शामिल EPFO कमिश्नर इंदौर मुकेश रावत को बीती 5 दिसंबर को मुंबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।

पति के अधूरे कामों को पूरा करेंगी नीतू, बनहेरी की सरपंच बनीं विक्रम रावत की पत्नी, हत्या के बाद खाली हुई थी सीट

अब ये सभी आरोपी जेल में हैं इस बीच सरपंच की सीट खाली होने पर निर्वाचन आयोग ने उप चुनाव करवाया और आज विक्रम की पत्नी नीतू सरपंच का चुनाव जीत गई, उनकी जीत पर परिजनों और उनके समर्थकों, रिश्तेदारों, गाँव के लोगों ने ख़ुशी जताई है और नीतू रावत को बधाई दी है।

डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News